मुखपृष्ठ > वेफ़ांग
IPL 2022 Auction: 34 खिलाड़ियों ने रखा 1 करोड़ रुपये बेस प्राइस, लिस्ट में कई बड़े नाम शामिल
रिलीज़ की तारीख:2022-09-29 04:59:22
विचारों:684

खिलाड़ियोंनेरखा1करोड़रुपयेबेसप्राइसलिस्टमेंकईबड़ेनामशामिलIPL 2022: फाइनल मैच से पहले ही जोस बटलर ने रच दिया है इतिहास, इस मामले में निकल चुके हैं सबसे आगे******Highlightsइंडियन प्रीमियर लीग 2022 का फाइनल मैच अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेला जाएगा। फाइनल मुकाबला गुजरात टाइटंस और राजस्थान रॉयल्स के बीच है। आईपीएल के इतिहास में यह दूसरा मौका है जब राजस्थान रॉयल्स की टीम फाइनल में पहुंची है। टीम ने आखिरी बार पहले सीजन के फाइनल में खिताबी जीत हासिल की थी।आईपीएल 2022 में राजस्थान के लिए ओपनर बल्लेबाज जोस बटलर ने धमाकेदार प्रदर्शन किया है। बटलर अपनी टीम के लिए शानदार लय में हैं और चार शतक लगा चुके हैं। इंग्लैंड के इस धाकड़ खिलाड़ी ने राजस्थान के लिए लीग स्टेज में दमदार बल्लेबाजी के अलावा प्लेऑफ में शानदार खेल का प्रदर्शन किया है।इसके साथ उन्होंने किसी एक सीजन के प्लेऑफ में सबसे अधिक रन बनाने के मामले में डेविड वॉर्नर को पीछे छोड़ दिया है। वॉर्नर प्लेऑफ में खेले गए अब तक अपने दो मैच में 194 रन बना लिए हैं जिसमें आरसीबी के खिलाफ लगाया गया उनका शानदार शतक भी शामिल है। वहीं वॉर्नर ने साल 2016 में प्लेऑफ मैचों में 190 रन बनाए थे।इसके अलावा बटलर एक सीजन में सबसे अधिक रन बनाने के मामले में भी तीसरे स्थान पर हैं। आईपीएल 2022 में बटलर अब तक 824 रन बना चुके हैं जिसमें उनका स्ट्राइक रेट 151.47 का रहा है। ऐसे में राजस्थान के इस ओपनर बल्लेबाज की कोशिश होगी कि वह फाइनल मैच में एक बार फिर से अपने लय को बरकरार रखते हुए अपनी टीम के लिए उपयोगी रन बनाए और खिताबी जीत दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाए।

खिलाड़ियोंनेरखा1करोड़रुपयेबेसप्राइसलिस्टमेंकईबड़ेनामशामिलKenya president Election: 'गांजे से चुकाऊंगा देश का कर्ज', केन्या में राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार ने किए इस तरह के कई वादे******Highlights केन्या में राष्ट्रपति चुनाव चल रहे हैं, सभी उम्मीदवार जीत के लिए अपना पूरा जोर लगा रहे हैं। जनता को लुभाने के लिए तमाम तरह के वादे किए जा रहे हैं। इस बीच केन्या में राष्ट्रपति का चुनाव लड़ रहे एक उम्मीदवार ने देश की तंगहाली को दूर करने के लिए दो बेहद रोचक बाते कही हैं। उम्मीदवार का कहना है कि अगर वह केन्या का राष्ट्रपति बनता है तो देश की आर्थिक स्थिति को सही करने के लिए देश में गांजे का उद्योग स्थापित करेगा। इस बयान ने केन्या समेत दुनिया भर के लोगों को चौंका दिया है कि इतने बड़े पद के लिए दावेदारी करने वाला कोई व्यक्ति इस तरह का बयान कैसे दे सकता है। यह बयान दिया है केन्या के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जॉर्ज वाजाकोयाह ने। उन्होंने इसके अलावा भी कई ऊटपटांग वादे किए हैं।राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जॉर्ज वाजाकोयाह का कहना है कि वह केन्या की गरीबी लकड़बग्घे का अंडकोष और पशुओं का अंग चीन को बेचकरमिटाएंगे। जॉर्ज वाजाकोयाह ने कहा कि यह सब कर के वह केन्या पर लदे 70 मिलियन डॉलर का कर्ज उतार देंगे। आपको बता दें कि जॉर्ज वाजाकोयाह की उम्र लगभग 62 साल है और उन्होंने अपने इस तरह के बयानों से देश में खासी लोकप्रियता हासिल कर ली है।केन्या में सियासी उठपटक के बीच इन दिनों राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवारों के बीच जबरदस्त टक्कर देखी जा रही है। हालांकि, मुख्य लड़ाई रैला ओडिंगा और विलियम रुतो के बीच बताई जा रही है। लेकिन इन दोनों के बीच राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जॉर्ज वाजाकोयाह ने जिस तरह के बयान दिए हैं उससे उन्हें काफी लोकप्रियता हासिल हुई है। जॉर्ज वाजाकोयाह केन्या की काफी चर्चित पर्सानालिटी हैं। कभी कब्र खोदने वाले जॉर्ज वाजाकोयाह पहले लॉ प्रोफेसर बने और अब वह देश के राष्ट्रपति पद उम्मीदवार के तौर पर खड़े हैं। जॉर्ज वाजाकोयाह केन्या के युवाओं के बीच काफी लोकप्रिय माने जा रहे हैं। जॉर्ज वाजाकोयाह का कहना है कि उनका सपना है कि वह राष्ट्रपति बनने के बाद राष्ट्रपति के दफ्तर में गांजा फूंके।खिलाड़ियोंनेरखा1करोड़रुपयेबेसप्राइसलिस्टमेंकईबड़ेनामशामिलसांसदों में सर्वाधिक संपत्ति वृद्धि भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा की हुई, 153 सांसदों की संपत्ति में 142 प्रतिशत का उछाल******वर्ष 2014 में फिर से निर्वाचित हुए 153 सांसदों की औसत संपत्ति में 142 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है, और यह प्रति सांसद औसतन 13.32 करोड़ रुपये रही है। इस सूची में शत्रुघ्न सिन्हा, पिनाकी मिश्रा और सुप्रिया सुले शीर्ष पर हैं। इलेक्शन वाच और एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) के अनुसार, पांच सालों में (2009 से 2014) 153 सांसदों की औसत संपत्ति वृद्धि 7.81 करोड़ रुपयेरही। स्वतंत्र सार्वजनिक शोध समूहों ने 2014 में फिर से निर्वाचित हुए 153 सांसदों द्वारा सौंपे गए वित्तीय विवरणों की तुलना की है।अध्ययन में पाया गया है कि इन सांसदों की वर्ष 2009 में औसत संपत्ति 5.50 करोड़ रुपये थी, जो दोगुना से ज्यादा बढ़कर औसतन 13.32 करोड़ रुपये हो गई। सांसदों में सर्वाधिक संपत्ति वृद्धि भाजपा सांसदशत्रुघ्न सिन्हा की हुई। वर्ष 2009 में उनकी संपत्ति लगभग 15 करोड़ रुपये थी, जो 2014 में बढ़कर 131 करोड़ रुपये हो गई। बीजू जनता दल (बीजद) के पिनाकी मिश्रा की संपत्ति 107 करोड़ रुपये बढ़कर 137करोड़ रुपये हो गई। संपत्ति वृद्धि के मामले में तीसरा स्थान राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) की सुप्रिया सुले का है। 2009 में उनकी संपत्ति 51 करोड़ रुपये थी, जो 2014 में बढ़कर 113 करोड़ रुपये हो गई।इस मामले में शीर्ष 10 सांसदों में शिरोमणि अकाली दल की हरसिमरत कौर बादल छठे स्थान पर और भाजपा के वरुण गांधी 10वें स्थान पर हैं। वरुण ने 2009 में अपनी संपत्ति चार करोड़ रुपये बताई थी, जो2014 में बढ़कर 35 करोड़ रुपये हो गई। पार्टी के स्तर पर भाजपा के 72 सांसदों की संपत्ति में 7.54 करोड़ रुपये की औसत उछाल हुई, जबकि कांग्रेस के 28 सांसदों की संपत्ति में औसतन 6.35 करोड़ रुपये कीउछाल दर्ज की गई। शीर्ष नेताओं में कांग्रेस सांसद राहुल गांधी की संपत्ति 2009 के दो करोड़ रुपये से बढ़कर 2014 में सात करोड़ रुपये हो गई।

IPL 2022 Auction: 34 खिलाड़ियों ने रखा 1 करोड़ रुपये बेस प्राइस, लिस्ट में कई बड़े नाम शामिल

खिलाड़ियोंनेरखा1करोड़रुपयेबेसप्राइसलिस्टमेंकईबड़ेनामशामिलक्या 'दृश्यम' से ज्यादा चालाक हो गया है 'दृश्यम 2' का 'विजय', मलयालम वर्जन ने तो रोंगटे खड़े कर दिए******अभिनेता अजय देवगन ने की क्राइम थ्रिलर फिल्म 'दृश्यम 2' की शूटिंग शुरू कर दी है। यह फिल्म बहुचर्चित 'दृश्यम' की अगली कड़ी है। इस फिल्म के हिंदी वर्जन में अजय देवगन और अभिनेत्री श्रिया सरन नजर आएंगी। फिल्म को अलग-अलग भाषाओं में बनाया जा चुका है। फिल्म के प्लॉट की बात करें तो इस फिल्म 'विजय' का किरदार निभा रहे अजय देवगन को मुसीबत में फंसे अपने परिवार को बचाना है।अलग अलग भाषाओं में रिलीज हुई 'दृश्यम 2' की बात करें तो फिल्म के तेलुगु वर्जन में वेंकटेश हैं, जो मलयालम में बनाई गई मूल 'दृश्यम 2' से मोहन लाल की भूमिका निभाई है।अलग-अलग भाषाओं में रिलीज 'दृश्यम 2' की शुरुआत शहर के लोगों द्वारा 'राम बाबू' से जुड़े आपराधिक मामले की कार्यवाही पर सवाल उठाने के साथ होती है। पुलिस को यह चर्चा करते हुए देखा जाता है कि कैसे एक हत्या का मामला उन्हें बिना किसी सबूत के छह साल से सता रहा है। फिल्म में अगले कुछ सीन्स में निर्माताओं ने कुछ शक्तिशाली पावरफुल कैरेक्टर और किरदारों को पोट्रे करने की कोशिश की है। तुलनात्मक तौर पर तेलुगु और मलयालम में रिलीज 'दृश्यम 2' की कहानी अपने पहले वर्जन से ज्यादा दिलचस्प और रहस्यमयी लग रही है।दर्शकों को भी अजय देवगन की इस नई फिल्म से काफी उम्मीदें हैं। यह देखना दिलचस्प होगाकि क्या अजय देवगन अपनी पुरानी सक्सेस को फिर से दोहरा पाएंगे?बहरहाल अभिनेता अजय देवगन ने अब अपनी बहुप्रतीक्षित फिल्म दृश्यम 2 की शूटिंग शुरू कर दी है। सेट से एक तस्वीर साझा करते हुए, अजय ने लिखा, "क्या विजय फिर से अपने परिवार की रक्षा कर पाएगा? दृश्यम 2 की शूटिंग शुरू हो चुकी है।"अजय देवगन और श्रिया सरन फिल्म में विजय सलगांवकर और नंदिनी सलगांवकर की अपनी भूमिकाओं को दोहराएंगे। दृश्यम में दोनों कलाकार पति-पत्नी की भूमिका में हैं। निशिकांत कामत की दृश्यम जो एक केबल ऑपरेटर विजय सलगांवकर (अजय) की कहानी थी, जिसकी जिंदगी सिनेमा और उसके परिवार के इर्द-गिर्द घूमती है। तब्बू ने फिल्म में आईजी मीरा देशमुख की भूमिका निभाई है।खिलाड़ियोंनेरखा1करोड़रुपयेबेसप्राइसलिस्टमेंकईबड़ेनामशामिलShare Market Outlook: सोमवार से बाजार में बुल्स हावी रहेंगे? कौन से फैक्टर्स तय करेंगे चाल, एक्सपर्ट्स से समझिए******Highlightsमहत्वपूर्ण घरेलू घटनाक्रम की गैर-मौजूदगी में इस सप्ताह शेयर बाजारों का रुख वैश्विक रुझानों, विदेशी कोषों की आवक और कच्चे तेल की कीमतों में उतार-चढ़ाव से तय होगा। विश्लेषकों ने यह जानकारी देते हए कहा कि इस सप्ताह की प्रमुख वैश्विक घटनाएं यूरोपीय सेंट्रल बैंक द्वारा ब्याज दर पर फैसला और चीन की मुद्रास्फीति दर हैं। स्वास्तिका इंवेस्टमार्ट लिमिटेड के शोध प्रमुख संतोष मीणा ने कहा, ‘‘भारतीय इक्विटी बाजार, ज्यादातर वैश्विक बाजारों के मुकाबले बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं और कमजोर वैश्विक संकेतों के बावजूद लचीलापन दिखाने की कोशिश कर रहे हैं। इस सप्ताह घरेलू मोर्चे पर कोई महत्वपूर्ण घटनाक्रम नहीं है, इसलिए वैश्विक बाजारों की दिशा हमारे बाजार की दिशा में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी।’’मीणा ने कहा कि वैश्विक मोर्चे पर यूरोपीय सेंट्रल बैंक आठ सितंबर 2022 को ब्याज दर के बारे में फैसला करेगा। इसके अलावा अगस्त के लिए सेवा क्षेत्र के पीएमआई (खरीद प्रबंधक सूचकांक) आंकड़े भी बाजार को प्रभावित करेंगे। ये आंकड़े सोमवार को आएंगे। रेलिगेयर ब्रोकिंग लिमिटेड के शोध उपाध्यक्ष अजीत मिश्रा ने कहा, ‘‘किसी भी बड़े घटनाक्रम के अभाव में प्रतिभागियों की नजर वैश्विक बाजारों पर होगी। इसके अलावा विदेशी प्रवाह के रुख पर भी उनकी नजर रहेगी।’’ पिछले सप्ताह सेंसेक्स 30.54 अंक या 0.05 प्रतिशत टूट गया था, जबकि निफ्टी 19.45 अंक या 0.11 प्रतिशत गिर गया। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि एफपीआई आवक बढ़ने से घरेलू शेयर बाजारों को लचीला बने रहने में मदद मिली। हालांकि पिछले दिनों अमेरिकी फेडरल रिजर्व ने बाजार की उम्मीदों के विपरीत मौद्रिक सख्ती की ओर इशारा किया। ऐसे में आर्थिक मंदी की चिंताएं बढ़ गईं और दुनिया भर के बाजारों पर इसका असर देखने को मिला।मार्केट्स मोजो के मुख्य निवेश अधिकारी सुनील दमानिया ने कहा, ‘‘हमारा मानना है कि बाजार में इस समय तेजी का रुख बना हुआ है। इसकी एक प्रमुख वजह भारतीय अर्थव्यवस्था का बेहतर प्रदर्शन है।’’ उन्होंने कहा कि अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया रिकॉर्ड निचले स्तर को छूने के बाद स्थिर हुआ है। डॉलर के मुकाबले रुपया फिलहाल 79.50 के आसपास बना हुआ है। सोमवार को कारोबार के दौरान यह 80.15 के अबतक के सबसे निचले स्तर को छू गया था। वहीं निफ्टी के दिसंबर, 2019 तक 19,000 अंक तक जाने का अनुमान है।’’ ऐसे में दिवाली तक भारतीय बाजार में तेजी बनी रहने की उम्मीद है।खिलाड़ियोंनेरखा1करोड़रुपयेबेसप्राइसलिस्टमेंकईबड़ेनामशामिलहेजल कीच और युवराज सिंह बने पैरेंट्स, घर आया नन्हा मेहमान******बॉलीवुड एक्ट्रेस हेजल कीच और भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह माता पिता बन गए हैं। हेजल ने बेटे को जन्म दिया है। कपल ने इसकी जानकारी 25 जनवरी की रात अपने-अपने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए दी।युवराज सिंह ने ट्विटर पर लिखा, 'हमारे सभी फैंस, परिवार और दोस्तों, हमें इस खबर को शेयर करते हुए काफी खुशी हो रही है कि भगवान ने हमें बेवी ब्वॉय का आशीर्वाद दिया है। हम ईश्वर को इस तोहफे के लिए शुक्रिया अदा करते हैं और उम्मीद करते हैं कि हमारी निजता का ख्याल रखा जाएगा क्योंकि हमने नन्ही सी जान का इस दुनिया में स्वागत कर रहे हैं। बॉलीवुड एक्ट्रेस हेजल कीच ने भी अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर इसी मैसेज को पोस्ट किया है।हेजल और युवराज ने 30 नवंबर 2016 को शादी के बंधन में बंधे थे। कपल ने सिख और हिंदू रीति-रिवाजों से शादी की थी। गुरुद्वारे में शादी करने के बाद गोवा में डेस्टिनेशन वेडिंग की थी। युवराज सिंह और हेजल की लव स्टोरी भी बेहद खास थी। युवराज ने पहली मुलाकात में हेजल को हाय बोला था और कॉफी की पेशकश की थी। इस बात का खुलासा उन्होंने एक मशहूर टीवी कॉमेडी शो में किया।युवराज जहां भारतीय टीम के स्टार खिलाड़ी रह चुके हैं और 2014 में वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम के बेहद अहम सदस्य थे वहीं हेजल कीच फिल्मों में दिख चुकी हैं। वहीं हेजल कीच ने विज्ञापन से अपने करियर की शुरुआती की थी। वह सलमान खान अभिनीत फिल्म बॉडीगार्ड में भी नजर आई थीं। इस फिल्म में उन्होंने करीना कपूर की दोस्त का रोल निभाया था।

IPL 2022 Auction: 34 खिलाड़ियों ने रखा 1 करोड़ रुपये बेस प्राइस, लिस्ट में कई बड़े नाम शामिल

खिलाड़ियोंनेरखा1करोड़रुपयेबेसप्राइसलिस्टमेंकईबड़ेनामशामिलभारत में रोहिंग्या मुसलमानों की तस्करी का खुलासा, 6 आरोपी गिरफ्तार******HighlightsNIA (राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण) ने भारतीय क्षेत्र में रोहिंग्या मुसलमानों की कथित रूप से अवैध तस्करी करने वाले एक गिरोह के छह लोगों को गिरफ्तार किया है। शनिवार को इसकी जानकारी एनआईए के एक अधिकारी ने दी। देश के शीर्ष जांच एजेंसी के अधिकारी ने कहा कि यह गिरोह असम, पश्चिम बंगाल, मेघालय के साथ-साथ देश के अन्य हिस्सों के सीमावर्ती इलाकों में सक्रीय था।गौरतलब है कि म्यांमार सेना की कठोर कार्रवाई से तंग आकर करीब सात लाख रोहिंग्या मुस्लमानों ने भारत और बांग्लादेश में शरण ली। म्यांमार से करीब 60,000 रोहिंग्या भारत आए और अब देश के कई राज्यों में रह रहे हैं।खिलाड़ियोंनेरखा1करोड़रुपयेबेसप्राइसलिस्टमेंकईबड़ेनामशामिलइन टू व्हीलर से हो सकती है कई हजार रुपए सालाना की बचत, ऐसे उठाएं फायदा******इलेक्ट्रिक टू व्हीलर से हो सकती है 22 हजार रुपए सलाना की बचतदिल्ली ईवी नीति की अगस्त 2020 में शुरूआत के बाद से 630 नए ईवी दोपहिया पंजीकृत किए गए हैं। दिल्ली सरकार के मुताबिक इलेक्ट्रिक टू व्हीलर पर स्विच करके पेट्रोल स्कूटर-बाइक की तुलना मेंलगभग 1850 से 1650 की मासिक बचत होगी। पेट्रोल स्कूटर का उपयोग करने की तुलना में लगभग 22 हजार रुपये और पेट्रोल बाइक की तुलना में 20 हजार रुपये की बचत होगी। स्विच दिल्ली अभियान का पहला सप्ताहईवी दोपहिया वाहनों के लाभों के साथ-साथ ईवी नीति के तहत दिए जा रहे लाभों के बारे में जागरूकता पैदा करने पर केंद्रित है जो आईसीई (आंतरिक दहन इंजन) वाहनों से इलेक्ट्रिक में स्विच करना चाहते हैं।दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि दिल्ली ईवी नीति के आरंभ के बाद से 630 नए ईवी दोपहिया वाहनों का पंजीकरण किया गया है। हर दिन वाहन पंजीकृत किए जा रहे हैं। आरएमआई इंडिया द्वारा किएगए विश्लेषण में दिल्ली ईवी पॉलिसी के तहत इलेक्ट्रिक टू व्हीलर्स पर दी जाने वाली सब्सिडी और शीर्ष दो पेट्रोल वाहनों के मूल्य की तुलना की है। लेकिन असली बचत संचालन लागत में है। दिल्ली में इलेक्ट्रिक वाहन परस्विच करने से पर्यावरण को लाभ प्रमुख हैं।पढ़ें-पढ़ें-कैलाश गहलोत ने कहा कि एक औसत इलेक्ट्रिक टू व्हीलर एक पेट्रोल दो पहिया वाहन की तुलना में 1.98 टन कार्बन उत्सर्जन कम करता है। इसे सीधे शब्दों में कहें तो हमें 1.98 टन सीओ 2 को अवशोषित करने के लिएलगभग 11 पेड़ों की जरूरत है। इलेक्ट्रिक वाहन पर स्विच कर हम पर्यावरण को बचा सकते हैं।दिल्ली के एक बिजनेसमैन और तीसरी बार इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने वाले दलबीर चंद कोहली ने कहा कि दिल्ली में ईवी खरीदने वाला सात साल पहले मैं पहला व्यक्ति था। दिल्ली सरकार की ईवी नीति के बाद मैंने तीसराइलेक्ट्रिक वाहन खरीदा और 7700 रुपये की सब्सिडी प्राप्त की। रोड टैक्स और पंजीकरण शुल्क में छूट प्राप्त की है। मैं निश्चित रूप से सुझाव दूंगा कि हर व्यक्ति को ईवी पर स्विच करना चाहिए क्योंकि इससे कम प्रदूषण होताहै। काफी कम आवाज होती है और घर पर बहुत आसानी से चार्ज किया जा सकता है। मुझे इलेक्ट्रिक वाहन चलाने का अच्छा अनुभव रहा है।पढ़ें-पढ़ें-स्विच दिल्ली, दिल्ली सरकार द्वारा एक आठ सप्ताह का जन जागरूकता अभियान है, ताकि प्रत्येक दिल्ली वासी को पर्यावरण के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों में स्विच करने के फायदों के बारे में जागरूक किया जा सके। साथ ही,उन्हें दिल्ली की ईवी नीति के तहत विकसित किए जा रहे प्रोत्साहनों और बुनियादी ढांचे के बारे में संवेदनशील बनाया जा सके। इस अभियान का उद्देश्य दिल्ली में प्रत्येक व्यक्ति को प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों से शून्यउत्सर्जन वाले इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलने के लिए बताना, प्रोत्साहित करना और प्रेरित करना है।पढ़ें-पढ़ें-

IPL 2022 Auction: 34 खिलाड़ियों ने रखा 1 करोड़ रुपये बेस प्राइस, लिस्ट में कई बड़े नाम शामिल

खिलाड़ियोंनेरखा1करोड़रुपयेबेसप्राइसलिस्टमेंकईबड़ेनामशामिलAGR से सार्वजनिक कंपनियों को मिली बड़ी राहत, सरकार ने मांग में की 96 प्रतिशत कटौती******In big relief, Centre to withdraw 96 per cent of AGR dues केंद्र सरकार ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में बताया कि दूरसंचार विभाग ने गेल जैसे गैर-संचार सार्वजनिक उपक्रमों से एजीआर से संबंधित बकाया चार लाख करोड़ रूपए की मांग में से 96 प्रतिशत मांग वापस लेने का फैसला किया है। न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा, न्यायमूर्ति एस अब्दुल नजीर और न्यायमूति एम आर शाह की पीठ को वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के माध्यम से सुनवाई के दौरान सॉलि‍सीटर जनरल तुषार मेहता ने सूचित किया कि ने एक हलफनामा दाखिल किया है, जिसमे सार्वजनिक उपक्रमों से एजीआर संबंधित बकाया राशि की मांग की वजह को स्पष्ट किया गया है।हालांकि, भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया लिमिटेड जैसी निजी संचार कंपनियों द्वारा एजीआर से संबंधित बकाया राशि के भुगतान को लेकर दाखिल हलफनामों का जवाब देने के लिए दूरसंचार विभाग ने पीठ से कुछ समय देने का अनुरोध किया है।इस मामले की सुनवाई के दौरान पीठ ने बैंक गारंटी और प्रतिभूति के बारे मे जानना चाहा जो एजीआर से संबंधित बकाया राशि का भुगतान सुनिश्चित करने के लिए इन निजी कंपनियों से लिया जा सकता है। इस मामले में अभी सुनवाई चल रही है।

खिलाड़ियोंनेरखा1करोड़रुपयेबेसप्राइसलिस्टमेंकईबड़ेनामशामिलDoctor Strange Trailer: मार्वल स्‍टूडियो की फिल्‍म 'डॉक्‍टर स्‍ट्रेंज' का ट्रेलर OUT, फैंस को आ रहा पसंद****** सोमवार को मार्वल स्‍टूडियो की नई फिल्‍म 'डॉक्‍टर स्‍ट्रेंज इन द मल्‍टीवर्स ऑफ मैडनेस' का ट्रेलर रिलीज किया गया है। इसका इंतजार फैंस को लंबे समय से था। ट्रेलर के सामने आते ही फैंस अपनी खुशी जाहिर कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर 'डॉक्‍टर स्‍ट्रेंज इन द मल्‍टीवर्स ऑफ मैडनेस' के बारे में लिखा जा रहा है।ट्रेलर को काफी पसंद किया जा रहा है। साथ ही फैंस कुछ नई बातों को खोज भी लिए हैं। एक फैंस का दावा है कि ट्रेलर में उन्‍हें 'आयरन मैन' की झलक दिखी है। हालांकि, इसको लेकर कुछ कंफर्म नहीं किया गया है लेकिन, कई यूजर्स इसको लेकर दावा करते नजए आ रहे हैं।दरअसल, ट्रेलर में आयरन मैन जैसी छवि दिखी है, वह असल में टॉम क्रूज हैं। जो अब नए आयरन मैन होंगे। 'डॉक्‍टर स्‍ट्रेंज इन द मल्‍टीवर्स ऑफ मैडनेस' के रिलीज होने के कई घंटे हो चुके हैं। अभी भी यूजर्स इसको लेकर अपनी राय लिख रहे हैं। बता दें, 6 मई को फिल्म रिलीज होने वाली है। इसके बाद आयरन मैन की सच्चाई का पता चल जाएगा।खिलाड़ियोंनेरखा1करोड़रुपयेबेसप्राइसलिस्टमेंकईबड़ेनामशामिलगेहूं की बुवाई क्षेत्र में अब तक 12.41 प्रतिशत की कमी, अब तक 110 लाख हेक्‍टेयर में हुई बुवाई****** चालू रबी सत्र में अभी तक गेहूं खेती का रकबा 110.66 लाख हेक्टेयर हो गया जो पूर्व वर्ष की इसी अवधि के रकबे से 12.41 प्रतिशत कम है। सरकारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है। कृषि मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार किसानों ने रबी सत्र 2017-18 में अब तक गेहूं की बुवाई 110.66 लाख हेक्टेयर में की है जो रकबा वर्ष भर पूर्व की इसी अवधि में 126.35 लाख हेक्टेयर था।उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, पंजाब, हरियाणा और राजस्थान में अभी तक कम रकबे में गेहूं की बुवाई हुई है।रबी (जाड़े) की फसलों की बुवाई अक्तूबर से शुरु होती है और कटाई का काम मार्च से शुरु होता है। गेहूं प्रमुख रबी फसल है। हालांकि, चालू सत्र में अभी तक दलहनों की बुवाई अधिक यानी 101.43 लाख हेक्टेयर के रकबे में की गई है जबकि पिछले साल इसी अवधि में 89 लाख हेक्टेयर में गेहूं की बुवाई की गई थी।मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और कर्नाटक में अभी तक दलहन खेती का रकबा अधिक है।चालू रबी सत्र में धान की बुवाई अब तक 9.49 लाख हेक्टेयर में की गई है जो रकबा पूर्व वर्ष की समान अवधि में 7.32 लाख हेक्टेयर था।मोटे अनाजों के बुवाई का रकबा भी बढ़कर 36.35 लाख हेक्टेयर हो गया जो पूर्व वर्ष की समान अवधि में 33.93 लाख हेक्टेयर था।मगर तिलहनों की बुवाई का रकबा चालू सत्र में अभी तक घटकर 57.93 लाख हेक्टेयर रह गया जो पूर्व वर्ष की इसी अवधि में 63.96 लाख हेक्टेयर था।सभी रबी फसलों की बुवाई का रकबा अभी तक कम यानी 315.86 लाख हेक्टेयर ही है जो पूर्ववर्ष की समान अवधि में 320.55 लाख हेक्टेयर था।बुवाई के कुल 623 लाख हेक्टेयर के रकबे में से अब तक केवल 50 प्रतिशत को ही खेती के दायरे में लिया गया है।नियो के नाम से टाटा लॉन्‍च करेगी नैनो का इलेक्ट्रिक अवतार, एक बार चार्ज होने पर चलेगी 150 किमीEPFO ने ETF यूनिट्स को पीएफ खातों में डालने की दी मंजूरी, अंशधारकों के खाते में आएंगे शेयरों की कमाई के पैसे

खिलाड़ियोंनेरखा1करोड़रुपयेबेसप्राइसलिस्टमेंकईबड़ेनामशामिलDhar Dam News: धार में कारम डैम का पानी निकालने की तैयारी, चेनल बनाने में जुटा सरकारी महकमा, कंट्रोल रूम से नजर रख रहे सीएम शिवराज******Highlightsमध्य प्रदेश के धार जिला मुख्यालय से करीब 35 किलोमीटर दूर कारम नदी पर करोड़ों की लागत से एक बांध बन रहा था। लेकिन इससे पहले कि डैम बनकर तैयार होता, इसकी दीवार से पानी का रिसाव और मिट्टी गिरना शुरू हो चुकी है। लिहाजा इस बांध के टूटने का खतरा पैदा होने की आशंका के मद्देनजर आपदा प्रबंधन के लिए सेना और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की टीमें शनिवार को मौके पर पहुंच गईं। इसके अलावा, वायुसेना के दो हेलीकॉप्टरों को भी स्टैंड बाई पर रखा गया है, ताकि जरूरत पड़ने पर उन्हें तुरंत लोगों के बचाव में भेजा जा सके।घटना की गंभीरता को देखते हुए प्रशासन ने बांध के निचले क्षेत्र में बसे 18 गांवों को शुक्रवार को ऐहतियातन खाली कराके लोगों को सुरक्षित स्थानों पर राहत शिविरों में भेज दिया है। इसके सभी ऑपरेशन को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह लगातार नजर बनाए हुए हैं। सीएम शिवराज ने कहा, "आज मैं अपनी पूरी टीम के साथ जिसमें सीएस, डीजीपी भी हैं, राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम में बैठा हूं। दोनों मंत्री कल से ही बांध स्थल पर मौजूद हैं। हमारे कमिश्नर, आईजी, इरीगेशन के इंजीनियर, चीफ इंजीनियर समेत पूरा अमला बांध स्थल पर ही मौजूद है। सुबह से हम विशेषज्ञों से सलाह ले रहे हैं।"शिवराज सिंह ने कहा, "प्रोफेसर गोयल आईआईटी रुड़की के प्रोफेसर है, इस मामले के विशेषज्ञ माने जाते हैं उनसे भी हमने एडवाइज ली है। रिटायर्ड चीफ इंजीनियर से भी एडवाइस ली है। मेरी बात प्रधानमंत्री मोदी, गृहमंत्री, केंद्रीय जल शक्ति मंत्री से भी हुई है।"मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज ने आगे कहा, "सभी का यह मत है कि जनता की सुरक्षा को देखते हुए ऐसी स्थिति में बांध में पानी का रहना उचित नहीं है। इसलिए हमने फैसला किया है कि बांध को कट करके हम पानी निकालेंगे। बांध खाली करेंगे। कट करने का काम शुरू कर दिया गया है और हमने उसके पहले ही सभी 18 गांव पूरी तरह से खाली करवा लिए हैं। गांव में कोई भाई बहन ना रहें इसलिए हमारी पूरी टीम घूम रही है।"सीएम ने आगे कहा कि कलेक्टर, एसपी, एडीएम, एसडीएम तहसीलदार, नायब तहसीलदार उनके साथ-साथ हमारे पुलिस के जवान, होमगार्ड के जवान, एसडीआरएफ की टीमें, एनडीआरएफ की टीम, आर्मी के कालम सब फील्ड में तैनात हैं और सुनिश्चित कर रहे हैं कि पानी निकलने वाला है। सीएम शिवराज ने बताया कि कोई गांव में ना रहे, हमने यह व्यवस्था भी की है कि गांवों में कोई पशु ना रह जाए। गाय बैल भैंस बकरी-बकरा इनको भी निकालने की व्यवस्था की गई है।खिलाड़ियोंनेरखा1करोड़रुपयेबेसप्राइसलिस्टमेंकईबड़ेनामशामिलडीडीए दिल्ली में जल्द लाएगा 16 हजार फ्लैट्स की स्कीम, पुराने 13,148 फ्लैट्स की भी होगी नीलाम****** दिल्ली में अपने घर का आपका सपना जल्द पूरा हो सकता है। दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) जनवरी में नए फ्लैट्स की स्कीम लॉन्च करने जा रहा है। इस स्कीम के तहत लगभग 16 हजार से फ्लैट्स बनाए जाएंगे। यही नहीं सालभर से अटके 13 हजार फ्लैट्स की बिक्री को भी मंजूरी मिल गई है। डीडीए अपने नए योजना की आधिकारिक घोषणा जल्द ही करेगा।smart cities

खिलाड़ियोंनेरखा1करोड़रुपयेबेसप्राइसलिस्टमेंकईबड़ेनामशामिल1 करोड़ रुपये तक का इनाम जीतने का मौका, देनी होगी बस ये छोटी सी जानकारी, जानिए क्या है स्कीम******sebi plans 1 crore rupee reward for informers of insider trading किसी कंपनी के के बारे में सूचना देने वालों को इनाम के रूप में बाजार नियामक से एक करोड़ रुपये तक मिल सकते हैं। इसके अलावा गोपनीयता बनाये रखने के साथ पूरी जानकारी साझा करने के लिये हॉटलाइन उपलब्ध कराई जाएगी। साथ ही जांच में सहयोग के बदले छोटी गड़बड़ियों के लिये माफी या उसका निपटान किया जाएगा।भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने भेदिया कारोबार निरोधक (पीआईटी) नियमन के तहत नई 'सूचना प्रणाली' के लिये विस्तृत नियम तैयार किया है। इस नियम को इसी महीने मंजूरी के लिये निदेशक मंडल के समक्ष रखा जाएगा। हालांकि ये लाभ केवल लोगों और कंपनियों के लिये उपलब्ध होगा और आडिटर जैसे पेशेवरों को इसकी सुविधा नहीं मिलेगी। पेशेवरों को इसके दायरे से बाहर रखने का कारण यह है कि गड़बड़ी के बारे में जानकारी देने की जवाबदेही उन्हीं की है।सेबी नियमन निवेशकों के हितों की रक्षा के लिये भेदिया कारोबार पर रोक लगाता है। इसमें भेदिया कारोबार वैसे मामले को कहा जाता हैं जहां कीमत से जुड़ी अप्रत्याशित संवेदनशील जानकारी अपने पास रखते हुए प्रतिभूतियों में कारोबार किया जाता है। अधिकारियों ने कहा कि सेबी के लिए यह जरूरी है कि भेदिया कारोबार का पता लगाने के लिये सभी कानूनी उपायों का उपयोग करे और निवेशकों के बीच भरोसा और बाजार की विश्वसनीयता बनाये रखने को लेकर यथाशीघ्र कार्रवाई करे।बाजार नियामक को भेदिया कारोबार मामलों की जांच करने के दौरान तारों को जोड़ने और साक्ष्य जुटाने में कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। इसके कारण ऐसे मामलों की जांच में लंबा समय लगता है। अपनी जांच और नियमों को लागू करने की व्यवस्था के तहत सेबी की वैसे लोगों को प्रोत्साहन देने की योजना है जिनके पास भेदिया कारोबार मामलों की जानकारी है और वे संबंधित जानकारी नियामक को देते हैं। इस बारे में संबंधित पक्षों की प्रतिक्रिया मिलने के बाद इसके लिये विस्तृत नियमन तैयार किया गया है। सेबी ने जून में इस बारे में परिचर्चा पत्र जारी किया था।सेबी के पीआईटी नियमन में प्रस्तावित संशोधन के तहत सूचना देने वालों को स्वैच्छिक सूचना घोषणा फार्म (वीआईडीएफ) देने की जरूरत है। इसमें भेदिया कारोबार मामले से जुड़ी विश्वासनीय, पूरी और मूल सूचना देनी होगी। इसमें अप्रकाशित कीमत संवेदनशील जानकारी का आदान-प्रदान या नियमों का उल्लंघन कर कारोबार करना आदि शामिल हैं। इसमें सूचना के स्रोत के बारे में जानकारी देना अनिवार्य होगा और यह लिखित में देना होगा कि उसे संबंधित जानकारी सेबी या अन्य संबंधित नियामक में कार्यरत किसी व्यक्ति से नहीं मिली है।सेबी सूचना संरक्षण कार्यालय (ओआईपी) स्थापित करेगा जो जांच इकाई या अन्य विभागों से पूरी तरह अलग होगा। यह कार्यालय वीआईडीएफ प्राप्त करने और उसके प्रसंस्करण के लिये जिम्मेदार होगा। ओआईपी ही सूचना देने वालों को पुरस्कृत करने के बारे में निर्णय करेगा और सूचना देने वालों और सेबी के बीच मध्यस्थ होगा। वह सूचना देने वालों की मदद के लिये हॉटलाइन स्थापित करेगा। इस व्यवस्था के तहत सूचना देने वालों के लिये इनाम देने का प्रस्ताव किया गया है। इसके तहत अगर सेबी गलत तरीके से कमाये गये कम-से-कम एक करोड़ रुपये का पता लगाने में कामयाब होता है, तो सूचना देने वालों को इनाम दिया जाएगा। यह इनाम प्राप्त धन का 10 प्रतिशत और अधिकतम एक करोड़ रुपये होगा। इसके अलावा जांच में सहयोग के बदले छोटी गड़बड़ियों के लिये माफी या उसका निपटान करने का भी प्रस्ताव किया गया है।खिलाड़ियोंनेरखा1करोड़रुपयेबेसप्राइसलिस्टमेंकईबड़ेनामशामिलवित्त सचिव राजीव कुमार का बड़ा बयान, 12 सरकारी बैंक देश की जरूरत के हिसाब से उचित संख्या******Rajiv Kumar, secretary, department of financial services राजीव कुमार ने कहा है कि सार्वजनिक क्षेत्र के 10 बैंकों का विलय कर चार बैंक बनाने से बैंकों के एकीकरण की प्रक्रिया लगभग पूरी हो गई है। उन्होंने कहा कि आकांक्षी और नए भारत की जरूरतों को पूरा करने के लिए 12 सार्वजनिक बैंकों की संख्या बिल्कुल उचित है। इस एकीकरण के पूरा होने के बाद देश में राष्ट्रीयकृत बैंकों की संख्या घटकर 12 रह जाएगी, 2017 में यह 27 थी।कुमार ने रविवार को कहा कि बैंकों की यह संख्या देश की जरूरत के हिसाब से पूरी तरह उचित है।बता दें कि सरकार ने 30 अगस्त को सार्वजनिक क्षेत्र के 10 बैंकों का एकीकरण कर चार बैंक बनाने की घोषणा की थी। कुमार ने कहा कि सरकार के इस फैसले से 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था के लक्ष्य को पाने में मदद मिलेगी।वित्त सचिव ने कहा कि अगले चरण की वृद्धि को समर्थन के लिए देश को बड़े बैंकों की जरूरत है। बैंकों के विलय की जो बड़ी घोषणा हुई है उससे इसमें मदद मिलेगी। अब हमारे पास छह विशाल आकार के बैंक होंगे। इन बैंकों का पूंजी आधार, आकार, पैमाना और दक्षता उच्च स्तर की होगी।कुमार ने बैंकिंग क्षेत्र के बही खातों को साफ सुथरा बनाने के अभियान की अगुवाई की है। उनके कार्यकाल में कई चीजें पहली बार हुई हैं। बैंकिंग इतिहास में उनमें सबसे अधिक पूंजी डाली गई है। इसी तरह पहली बार बैंक आफ बड़ौदा की अगुवाई में तीन बैंकों का विलय हुआ है। बैंकों के बही खातों को साफ सुथरा करने की प्रक्रिया के अब नतीजे सामने आने लगे हैं। चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 18 में से 14 सार्वजनिक बैंकों ने लाभ दर्ज किया है।इससे पहले इसी साल विजया बैंक और देना बैंक का बैंक आफ बड़ौदा में विलय हुआ। इससे देश का दूसरा सबसे बड़ा सरकारी बैंक अस्तित्व में आया। अप्रैल, 2017 में भारतीय स्टेट बैंक में पांच सहायक बैंकों स्टेट बैंक आफ पटियाला, स्टेट बैंक आफ बीकानेर एंड जयपुर, स्टेट बैंक आफ मैसूर, स्टेट बैंक आफ त्रावणकोर और स्टेट बैंक आफ हैदराबाद तथा भारतीय महिला बैंक का विलय हुआ था।

पिछला:शेयर बाजार में बढ़ रहा है 'पिछड़े' राज्यों का दबदबा, नए निवेशकों के मामले में यूपी ने गुजरात को छोड़ा पीछे
अगला:मनोरंजन की बड़ी खबरें: राहुल बोस के ट्वीट के बाद होटल पर हुई कार्रवाई, 'जजमेंटल है क्या' के लिए आई बुरी खबर
संबंधित आलेख