मुखपृष्ठ > ज़ोज़ुआंग सिटी
Budget 2022: क्रिप्टोकरेंसी को लेकर क्या है सरकार का प्लान?, Cryptocurrency पर इसलिए लगाया 30% टैक्स
रिलीज़ की तारीख:2022-09-29 06:58:59
विचारों:257

क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सतबलीगी जमात पर कार्रवाही के बाद लगे अल्पसंख्यक विरोधी आरोपों का योगी आदित्यनाथ ने दिया जवाब******लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इंडिया टीवी से खास बातचीत मेंतबलीगी जमात पर कार्रवाई करने पर उनके उपर लगे अल्पसंख्यक विरोधी होने के आरोपों पर कहा कि मैं राजनीति भी करूं और लोगों के कहने पर बुरा भी मानूं तो विरोधाभास होगा, अगर मैं राजनीति में हूं तो मुझे आरोप प्रत्यारोप झेलने की सामर्थ्य भी रखनी पड़ेगी। लेकिन काम वही करना है जो नियम कहेगा। अगर डिजास्टर मैनेजमेंट कुछ एडवायजरी जारी की है तो उसका पालन कराना मेरा कर्तव्य है। तब्लीगी जमात ने जो किया वह अक्षम्य अपराथ है, अगर तबलीगी जमात और मरकज से जुड़े लोगो शुरू में गलती न करते तो आज देश की इतनी स्थिति न होती, संक्रमण न्यूनतम स्तर पर होता।योगी आदित्यानाथ ने कहा कि इन्होंने इंफेक्शन छुपाया और उसको फैलाने का काम किया। ये अपराध है और लगातार शरारत करते रहे कोई थूकता रहा कोई बदत्मीजी करता रहा कोई मारपीट करता रहा को ई पुलिस पर हमला करता रहा, यह स्वीकार्य नहीं हो सकता। इसलिए भारत सरकार ने भी महामारी एक्ट में बदलाव किए और हर कोरोना वारियर को सुरक्षा दी।मुख्यमंत्री ने कहा कि मानवता की रक्षा के लिए यह कदम उठाए गए हैं। अगर कोई कहता है कि हम मजहब विरोधी हैं मत विरोधी हैं तो हमारा काम इस प्रकार की चीजों को सुनने का नहीं है, हमारा काम कानून के मुताबिक काम करना है और जो नियम हैं उसके तहत काम करना है। जब भी मानवता के हित में कोई कदम उठाने होंगे तो उनको उठाने में हम हिचकेंगे नहीं।

क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सRishi Kapoor Death Anniversary: कैसे पड़ा था ऋषि कपूर का नाम चिंटू, कैसे हुई नीतू कपूर से मुलाकात, यहां पढ़ें दिलचस्प किस्सा******बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता ऋषि कपूर ने पिछले साल आज ही के दिन यानी 30 अप्रैल को दुनिया को अलविदा कह दिया था। भले ही आज वो इस दुनिया में न हों, लेकिन उनकी यादें हमेशा हम सभी के दिलों में जिंदा हैं। अभिनेता ने ल्यूकेमिया के साथ दो साल की लड़ाई के बाद 30 अप्रैल 2020 को मुंबई में अंतिम सांस ली। उनका जाना बॉलीवुड के लिए गहरी क्षति रही। ऋषि कपूर एक अभिनेता के रूप में शानदार रहे और हिंदी सिनेमा में अपनी खास छाप छोड़ी। गुजरे जमाने में अपनी अदाकारी से सभी का दिल जीतने वालेने कम उम्र में ही एक्टिंग करियर की शुरुआत कर दी थी।ऋषि कपूर ने अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत फिल्म 'मेरा नाम जोकर' से की थी। इस फिल्म में वह राजकपूर के टीनएज रोल में नजर आए थे। इसके बाद ऋषि कपूर ने 'बॉबी' फिल्म में डिंपल कपाड़िया के साथ डेब्यू किया, फिल्म सुपरहिट रही और फिल्म के लिए उन्हें फिल्मफेयर अवार्ड से नवाजा गया था।दुनिया भले ही उन्हें ऋषि कपूर के नाम से जानती हो लेकिन उनके घर में मौजूद सभी सदस्य उनको चिंटू नाम से बुलाते थे। ऋषि कपूर साल 2016 में इंडिया टीवी पर प्रसारित होने वाले देश के लोकप्रिय शो 'आप की अदालत' में आए थे और इंडिया टीवी के एडिटर इन चीफ रजत शर्मा को दिए इंटरव्यू में उन्होंने चिंटू नाम रखे जाने के पीछे का किस्सा सुनाया था। 2016 में 'आप की अदालत' में ऋषि कपूर ने कहा था- एक पहेली थी जो मेरे बड़े भाई रणधीर कपूर ने स्कूल में सीखी थी, पहेली थी, छोटे से चिंटू मिंया, लंबी सी पूंछ, जहां जाए चिंटू मियां वहां जाए पूंछ, इस पहेली का उत्तर है सूई धागा और इसी पहेली के बाद उन्होंने मेरा नाम चिंटू रख दिया और आज तक मैं उनसे लड़ रहा हूं कि तुझे और कोई नाम नहीं मिला था जो चिंटू रख दिया।ऋषि कपूर ने साल 1980 में नीतू से की थी। इनकी मुलाकात साल 1974 में आई फिल्म ‘जहरीला इंसान’ के सेट पर हुई थी। जहां दोनों में गहरी दोस्ती हो गई थी। उस वक़्त नीतू ऋषि की लव गुरु बन उनकी गर्लफ्रेंड के लिए टिप दिया करती थीं। हालांकि बाद में यह दोस्ती प्यार में बदल गई। नीतू कपूर ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उनकी मां को बॉलीवुड इंडस्ट्री के अभिनेता बहुत ही कम पसंद थे, जिसके कारण नीतू ने अपने अफेयर के बारे में मां को कुछ नहीं बताया था। जब उन्हें अपनी बेटी के अफेयर के बारें में पता चला तो वह काफी गुस्सा हुई। नीतू कपूर और ऋषि कपूर की इंगेजमेंट भी बड़े ही मजेदार तरीके से हुई थी। दोनों एक शादी अटेंड करने के लिए दिल्ली आए हुए थे। इस खास मौके में ऋषि कपूर ने अपनी बहन से अंगूठी लेकर नीतू को पहना दी थी। वहीं नीतू कपूर ने फिल्‍म 'झूठा कहीं का' के डायरेक्‍टर की अंगूठी ऋषि कपूर को पहनाई थी। ऋषि कपूर की 1980 में नीतू कपूर से शादी हुई थी। शादी में भी कुछ ऐसा हुआ कि ये हमेशा के लिए यादगार हो गया। दरअसल शादी के दौरान नीतू कपूर और ऋषि कपूर दोनों ही बेहोश हो गए थे। नीतू कपूर ने एक इंटरव्यू में इस बात का खुलासा किया था। नीतू कपूर ने बताया- शादी में बहुत ज्यादा लोग आए थे। इतनी भीड़ से घिरे होने की वजह से ऋषि कपूर घोड़ी चढ़ने से पहले ही बेहोश हो गए थे। वहीं नीतू कपूर का लहंगा बहुत भारी होने की वजह से इसे संभालते दौरान वह बेहोश हो गई थीं।1973 से 2000 के बीच ऋषि कपूर 92 फिल्मों में नज़र आए। इनमें कभी कभी, कर्ज, चांदनी जैसी फिल्में शामिल हैं। इसके बाद ऋषि कपूर ने दो दुनी चार, मुल्क, कपूर एंड संस जैसी मूवीज में काम किया। 2022 में रिलीज हुई शर्मा जी नमकीन उनकी आखिरी फिल्म है।क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सIND v SL: टेस्ट सीरीज के पहले मुकाबले में कोहली के अलावा इन 2 खिलाड़ियों ने भी पूरे किए 100 मैच******Highlightsभारत और श्रीलंका के बीच मोहाली में खेला जा रहा टेस्ट सीरीज का पहला टेस्ट मैच पूर्व भारतीय कप्तान विराट कोहली के लिए काफी खास है। ये कोहली के करियर का 100वां टेस्ट मैच है। इसके साथ ही कोहली भारत की ओर से 100 टेस्ट मैच खेलने वाले खिलाड़ी बन गए हैं।कोहली से पहले सचिन तेंदुलकर (200), राहुल द्रविड़ (163), वीवीएस लक्ष्मण (134), अनिल कुंबले (132), कपिल देव (131), सुनील गावस्कर (125), दिलीप वेंगसरकर (116), सौरव गांगुली (113), ईशांत शर्मा (105), हरभजन सिंह (103) और वीरेंद्र सहवाग (103) 100 टेस्ट मैच खेलने का कारनामा कर चुके हैं।कोहली के अलावा 2 खिलाड़ियों के लिए भी आज का मुकाबला बेहद खास है। दरअसल, हनुमा विहारी जैसे ही श्रीलंका के खिलाफ मैदान में उतरे, वैसे ही उन्होंने 100 फर्स्ट क्लास मैच पूरे कर लिए।हनुमा विहारी के अलावा श्रीलंका के धनंजय डी सिल्वा ने भी अपने खाते में 100 फर्स्ट क्लास मैच दर्ज करा लिए हैं। इस तरह भारत और श्रीलंका के बीच पहला टेस्ट मैच विराट कोहली समेत 3 खिलाड़ियों के लिए खास बन गया है।

Budget 2022: क्रिप्टोकरेंसी को लेकर क्या है सरकार का प्लान?, Cryptocurrency पर इसलिए लगाया 30% टैक्स

क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सनए मॉडल्‍स लाने की तैयारी में है Tata Motors, तीसरी बड़ी कंपनी बनने का रखा लक्ष्य****** घरेलू कंपनीTata Motors ने 2019-20 तक मारुति सुजुकी और हुंडई के बाद तीसरी सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी बनने का लक्ष्य रखा है और इसके लिए उसने कॉम्पैक्ट SUV, प्रीमियम हैचबैक तथा एक्जक्यूटिव सेडान समेत नये वाहन उतारने की योजना बनायी है।दिवाली से पहले Tata Motors का बड़ा ऑफर, सिर्फ 31 हजार रुपए की डाउन पेमेंट पर खरीदिए ये कारहमने अगले पांच साल के लिये उत्पाद योजना को अंतिम रूप दे दिया है। आज टोटा मोटर्स कुल बाजार के 60 प्रतिशत से कम को कवर करती है और हमने उत्पाद रणनीति में जिस एक चीज पर ध्यान दिया है, उसमें 100 प्रतिशत बाजार में अपनी मौजूदगी को बढ़ाना है।Launching Soon: भारतीय बाजार में एंट्री को तैयार Tata Hexa, देखने में जितनी दमदार फीचर उतने ही शानदारक्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सलियाकत अली से लेकर अरुण जेटली तक, ये 25 वित्‍त मंत्री पेश कर चुके हैं भारत का आम बजट******Budget 2019 को पेश करने की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। वित्‍त मंत्री 1 फरवरी को वित्‍त वर्ष 2019-20 के लिए देश का आम बजट पेश करेंगे। अरुण जेटली से पहले देश में कुल 26वित्‍तमंत्रियों ने कार्यभार संभाला है, इनमें से 25 वित्‍त मंत्रियों ने संसद में आम बजट पेश किया है। अगर बजट पेश करने की बात करें तो इसमें सबसे आगे पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई का नाम आता है।मोरारजी देसाई द्वारा रिकार्ड 10 बार बजट प्रस्तुत किया गया।बजट किसी भी देश की अर्थव्‍यवस्‍था का लेखाजोखा होता है, वहीं अगले एक वर्ष के लिए सरकार की योजनाओं और उनके क्रियान्‍वयन का भी विस्‍तृत ब्‍यौरा होता है। बजट की इस पूरी प्रक्रिया में केंद्रीय वित्‍त मंत्रीकी प्रमुख भूमिका होती है। यही कारण है कि आजादी के बाद से अब तक विभिन्‍न सरकारों द्वारा पेश किए गए बजटों में वित्‍त मंत्री की आर्थिक समझ और देश की उन्‍नति के प्रति उनका नजरिया साफ झलकतादिखाई दिया है। आइए जानते हैं उन सभी 25 वित्‍तमंत्रियों के बारे में जिन्‍हें देश का आम बजट पेश करने का मौका मिला है।लियाकत अली खान29 अक्टूबर 1946 से 14 अगस्त 1947 तकआर के शंमुगम चेट्टी15 अगस्त 1947 से 1949 तकजॉन मथाई1949 से 1950 तकसी डी देखमुख1950 से 1957 तकटी टी कृष्णमाचारी1957 से 13 फरवरी 1958 तकजवाहर लाल नेहरू13 फरवरी 1958 से 13 मार्च 1958 तकमोरारजी देसाई13 मार्च 1958 से 29 अगस्त 1963 तकटी टी कृष्णमाचारी29 अगस्त 1963 से साल 1965 तकसचिंद्रा चौधरी1965 से 13 मार्च 1967 तकमोरारजी देसाई13 मार्च 1967 से 16 जुलाई 1969 तकइंदिरा गांधी1970 से 1971 तकयशवंतराव चव्हाण1971 से 1975 तकचिदंबरम सुब्रह्मण्यम1975 से 1977 तकहरिभाई एम पटेल24 मार्च 1977 से 24 जनवरी 1979 तकचौधरी चरण सिंह24 जनवरी 1979 से 28 जुलाई 1979 तकहेमवती नंदन बहुगुणा28 जुलाई 1979 से 14 जनवरी 1980 तकआर वेंकटरमण14 जनवरी 1980 से 15 जनवरी 1982 तकप्रणब मुखर्जी15 जनवरी 1982 से 31 दिसंबर 1984 तकवी पी सिंह31 दिसंबर 1984 से 24 जनवरी 1987 तकराजीव गांधी24 जनवरी 1987 से 25 जुलाई 1987 तकएन डी तिवारी25 जुलाई 1987 से 25 जून 1988 तकशंकरराव चव्हाण25 जून 1988 से 2 दिसंबर 1989 तकमधु दंडवते2 दिसंबर 1989 से 10 नवंबर 1990 तकयशवंत सिन्हा10 नवंबर 1990 से 21 जून 1991 तकमनमोहन सिंह21 जून 1991 से 16 मई 1996 तकजसवंत सिंह16 मई 1996 से 1 जून 1996 तकपी चिदंबरमएक जून 1996 से 21 अप्रैल 1997 तकआई के गुजराल21 अप्रैल 1997 से 1 मई 1997 तकपी चिदंबरम1 मई 1997 से 19 मार्च 1998 तकयशवंत सिन्हा19 मार्च 1998 से 1 जुलाई 2002 तकजसवंत सिंह1 जुलाई 2002 से 22 मई 2004 तकपी चिदंबरम22 मई 2004 से 30 नवंबर 2008 तकमनमोहन सिंह30 नवंबर 2008 से 24 जनवरी 2009 तकप्रणब मुखर्जी24 जनवरी 2009 से 26 जून 2012 तकमनमोहन सिंह26 जून 2012 से 31 जुलाई 2012 तकपी चिदंबरम31 जुलाई 2012 से 2014 तकअरुण जेटली26 मई 2014 से अब तकक्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सAmit Shah News: मुंबई दौरे पर हुई गृहमंत्री अमित शाह की सुरक्षा में चूक, घंटों आस-पास घूमता रहा संदिग्ध शख्स, हुआ गिरफ्तार******Highlightsमुंबई दौरे पर गृहमंत्री अमित शाह की सुरक्षा में चूक का मामला सामने आया है। यहां एक शख्स खुद को आंध्र प्रदेश के सांसद का पीए बताकर घंटों उनके आस-पास घूमता रहा। इस शख्स पर शक होने के बाद मंत्रालय के एक अधिकारी ने मुंबई पुलिस को जानकारी दी, जिसके बाद मुंबई पुलिस ने उसे पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया। आरोपी का नाम हेमंत पवार है और वह धुले का रहने वाला है।मुंबई पुलिस ने शाह की सुरक्षा में किए थे पुख्ता इंतजाममुंबई पुलिस ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की मुंबई यात्रा के दौरान तमाम जगहों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए थे। अमित शाह जब उपमुख्यमंत्री के आवास सागर और मुख्यमंत्री आवास गए तो कोट, टाई और सरकारी पहचान पत्र पहने एक शख्स अजीबो गरीब हालात में घूम रहा था। मुंबई पुलिस के पूछने पर उसने कहा कि वह केंद्रीय गृह मंत्रालय का अधिकारी है, लेकिन बाद में वह चला गया।जब सीआरपीएफ के अधिकारियों ने मुंबई पुलिस को सूचित किया कि वह व्यक्ति संदिग्ध है, तो उसे नाना चौक इलाके से एक गुप्त सूचना के माध्यम से गिरफ्तार किया गया था। जांच में पता चला कि वह सरकारी अधिकारी नहीं था लेकिन बड़ा सवाल यह है कि वह फर्जी अफसर वहां क्या कर रहा था?गिरगांव कोर्ट ने आरोपी को 12 सितंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है आरोपी के पास से सांसद सचिव का पहचान पत्र भी मिला है। वह मूल रूप से धुले का रहने वाला है लेकिन गिरफ्तार आरोपी कौन है? क्या उसके पीछे कोई है? इस मामले में आगे की जांच जारी है।शाह ने मुंबई में की थी बैठकबता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आगामी बीएमसी (BMC) चुनावों की रणनीति और तैयारियों पर चर्चा करने के लिए उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की मौजूदगी में मुंबई में बीजेपी नेताओं, सांसदों और विधायकों के साथ बैठक की थी। इस दौरान उन्होंने कहा था कि पीएम मोदी के मार्गदर्शन में बीएमसी चुनाव में बीजेपी और असली शिवसेना गठबंधन का टारगेट 150 सीट जीतने का होना चाहिए। इस बीच, गृह मंत्री शाह ने महाराष्ट्र के पूर्व सीएम उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) पर निशाना साधा था और धोखा देने का आरोप लगाया था। अमित शाह ने कहा था कि जनता पीएम मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी के साथ है, विचारधारा को धोखा देने वाली उद्धव पार्टी के साथ नहीं।

Budget 2022: क्रिप्टोकरेंसी को लेकर क्या है सरकार का प्लान?, Cryptocurrency पर इसलिए लगाया 30% टैक्स

क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सपेट्रोल डीजल के रेट को लेकर बड़ी खबर, जानिए आपके शहर में आज कहां पहुंची कीमत******पेट्रोल डीजल के रेट को लेकर बड़ी खबर, जानिए आपके शहर में आज क्या हैं कीमतपेट्रोल डीजल की कीमतों को लेकर आजरविवार कोफिर ग्राहकों के लिए राहत की खबर है। सरकारी तेल कंपनियों की ओर से आज एकबार फिर कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया गया है। आज भी पेट्रोल और डीजलकी कीमतें स्थिर है। महंगाई के इस दौर में देश की आम जनता को इससे थोड़ी सी राहत जरूर मिलेगी। देश में 27 फरवरी से तेल की कीमत में कोई बदलाव नही हुआ है जिसके कीमतें स्थिर बनी हुई है।दिल्ली में पेट्रोल के दाम 91.17 रुपए जबकि डीजल के दाम 81.47 रुपए प्रति लीटर है। वहीं मुंबई में पेट्रोल की कीमत 97.57 रुपये व डीजल की कीमत 88.60 रुपये प्रति लीटर है। चेन्नई में पेट्रोल 93.17 रुपये और डीजल86.45 रुपये पर बिक रहा है। कोलकाता में पेट्रोल 91.35 और डीजल 84.35 रुपये, भोपाल में पेट्रोल 99.21 और डीजल 89.76 रुपये, रांची में पेट्रोल 88.54 रुपये और डीजल 86.12 रुपये, बेंगलुरु में पेट्रोल 94.22 औरडीजल 86.37 रुपये, पटना में पेट्रोल 93.48 और डीजल 86.73 रुपये, चंडीगढ़ में पेट्रोल 87.73 और डीजल 81.17 रुपये, लखनऊ में पेट्रोल 89.31 और डीजल 81.85 रुपये में बिक रहा है।पढ़ें- पढ़ें- जानकारों के मुताबिक देश के 5 राज्यों में चुनाव हैं। यही कारण है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल महंगा होने के बावजूद पेट्रोल और डीजल के दाम घरेलू बाजार में स्थिर हैं। चुनाव खत्म होते ही माना जा रहा है किकीमत फिर बढ़ सकती हैं। बिहार में विधानसभा चुनाव के दौरान भी 48 दिनों तक दाम में कोई फेरबदल नहीं हुआ था। उसके बाद लगभग रोज कीमतें बढ़ीं। इस बीच पेट्रोल डीजल के जीएसटी के दायरे में आने की चर्चा होरही है। जिसके चलते माना जा रहा है कि पेट्रोल 75 रुपये तक आ सकता है।पढ़ें- 2021 के साल में पेट्रोल डीजल की कीमतों में भारी बढ़ोत्तरी का दौर जारी है। इस साल जनवरी और फरवरी की बात करें तो 25 दिनों मे ही पेट्रोल 7.36 रुपये महंगा हो चुका है। फरवरी महीने के दौरान पेट्रोल 04.74 रुपयेमहंगा हो गया है। पेट्रोल के साथ-साथ डीजल भी आसमान में पहुंच गया है। फरवरी महीने में इसकी कीमत में 4.52 रुपये का इजाफा हो चुका है। नए साल में देखें तो डीजल 07.60 रुपये प्रति लीटर महंगा हो चुका है।पढ़ें-क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सSC Hearing on Hijab and Talaq E Hasan: हिजाब विवाद और तलाक-ए-हसन पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज, जानें क्या है पूरा मामला******Highlights सुप्रीम कोर्ट में आज 2 बड़े मामलों को लेकर सुनवाई की जाएगी। पहला मामला हिजाब विवाद पर कर्नाटक हाईकोर्ट के फैसले से जुड़ा है, वहीं दूसरा मामला मुस्लिम पुरुषों को तलाक का एकतरफा अधिकार देने वाले तलाक-ए-हसन का है। हिजाब विवाद मामले में सुनवाई कर्नाटक हाईकोर्ट के 15 मार्च के फैसले के खिलाफ दायर याचिकाओं पर होगी। हाईकोर्ट के फैसले में कहा गया था कि मुस्लिम महिलाओं द्वारा हिजाब पहनना इस्लाम में आवश्यक धार्मिक प्रथा का हिस्सा नहीं है।क्या है हिजाब मामला15 मार्च को कर्नाटक हाईकोर्ट (Karnataka HC) के चीफ जस्टिस ऋतुराज अवस्थी की अध्यक्षता वाली बेंच ने कहा था कि स्कूल-कॉलेजों में यूनिफॉर्म के पूरी तरह पालन का राज्य सरकार का आदेश सही है। मुस्लिम महिलाओं द्वारा हिजाब पहनना इस्लाम में आवश्यक धार्मिक प्रथा का हिस्सा नहीं है। इसी फैसले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई होगी।ये पूरा मामला कुछ ऐसा है, जब कर्नाटक हाईकोर्ट ने हिजाब को धार्मिक स्वतंत्रता के अधिकार का हिस्सा बता रहे छात्राओं की याचिका को खारिज कर दिया था। ऐसे में हाईकोर्ट के फैसले को कर्नाटक के उडुपी की रहने वाली 2 छात्राओं मनाल और निबा नाज ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी।इसके अलावा फातिमा सिफत, फातिमा बुशरा समेत कई और छात्राओं ने भी अपील दाखिल की थी। इसमें कहा गया था कि ये फैसला संविधान के अनुच्छेद 25 के तहत हर नागरिक को मिलने वाली धार्मिक स्वतंत्रता के मौलिक अधिकार का हनन करता है।क्या है तलाक-ए-हसन का मामलामुस्लिम पुरुषों को तलाक का एकतरफा अधिकार देने वाले तलाक-ए-हसन (Talaq E Hasan) और दूसरे प्रावधानों को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर भी आज सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में सुनवाई होगी। तलाक ए हसन पीड़ित 2 महिलाओं ने इसे समानता के मौलिक अधिकार का हनन बताया था और मांग की थी कि मुस्लिम लड़कियों (Muslim Women) को तलाक के मामले में बाकी लड़कियों जैसे अधिकार मिलने चाहिए।भारत के नए सीजेआई एक्टिव मोड मेंभारत के नए सीजेआई (CJI) उदय उमेश ललित के पहले कार्य दिवस पर पहली सुनवाई के लिए इस मामले को सूचीबद्ध किया गया है। न्यायमूर्ति हेमंत गुप्ता और न्यायमूर्ति सुधांशु धूलिया की पीठ ऐसी याचिकाओं पर विचार करेगी, जिन पर मार्च से प्रारंभिक सुनवाई तक नहीं हो पाई है।

Budget 2022: क्रिप्टोकरेंसी को लेकर क्या है सरकार का प्लान?, Cryptocurrency पर इसलिए लगाया 30% टैक्स

क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सRajasthan News: पैसे के लालच में पाकिस्तानी एजेंसी के लिए कर रहे थे जासूरी, चढ़े पुलिस के हत्थे******Highlightsराजस्‍थान पुलिस ने पाकिस्‍तानी खुफिया एजेंसी के लिए जासूसी करने के आरोप में दो युवकों को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि ये युवक पैसों केलालच में गोपनीय जानकारी बाहर भेज रहे थे। पुलिस महानिदेशक पुलिस (खुफिया) उमेश मिश्रा ने बताया कि राजस्थान अपराध जांच विभाग (सीआईडी- खुफिया) को भीलवाड़ा निवासी नारायण लाल गाडरी (27) एवं जैतारण (पाली) में एक शराब ठेके पर कार्यरत कुलदीप सिंह शेखावत (24) के सोशल मीडिया के माध्यम से पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी से निरंतर संपर्क में होने की जानकारी मिली।उन्होंने बताया कि सीआईडी-खुफिया जयपुर ने इन दोनों की गतिविधियों पर लगातार नजर रखी। उन्होंने बताया कि दोनों युवकों को जासूसी गतिविधियों में लिप्त पाए जाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया और सभी खुफिया एजेंसियों ने उनसे गहन पूछताछ की। मिश्रा ने बताया कि पूछताछ में सामने आया कि गाडरी पाकिस्तानी जासूसी एजेंसियों के संपर्क में था और धन के लालच में विभिन्न मोबाइल प्रदाता कंपनियों के सिम कार्ड जारी करवाकर उन्हें अपने पाकिस्तान आकाओं को दे रहा था, ताकि वे भारतीय मोबाइल नंबरों से सोशल मीडिया अकाउंट चला सकें। वह उक्त नंबरों पर सेना से संबंधित गोपनीय सूचनाएं भेज रहा था।उन्होंने बताया कि शेखावत पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी की एक महिला के संपर्क में था। उन्होंने बताया कि शेखावत एक छद्म महिला एवं फर्जी सैन्यकर्मी के नाम से सोशल मीडिया अकाउंट बनाकर भारतीय जवानों से दोस्ती करने के बाद उनसे सेना से संबंधित गोपनीय सूचनाएं प्राप्त कर पाकिस्तानी महिला को उपलब्ध करा रहा था। मिश्रा बताया कि दोनों अभियुक्तों को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के लिए जासूसी करने के एवज में धन मिल रहा था। उन्होंने बताया कि आरोपियों के विरुद्ध शासकीय गुप्त बात अधिनियम, सूचना प्रौद्योगिकी कानून और भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्ससंदिग्ध आतंकी के साथ था मदरसे का संबंध, असम सरकार के किया ध्वस्त******Highlightsअसम में मदरसों से चलाई जा रही आतंकी गतिविधियों पर लगाम कसने की कवायद में बुधवार को सरकार ने एक निजी मदरसे को ध्वस्त कर दिया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, बोंगाईगांव जिला प्रशासन ने जोगीघोपा क्षेत्र के कबाईतारी में चल रहे मरकजुल मारिफ-उ-करियाना मदरसे पर बुलडोजर चलवा दिया। कार्रवाई को अंजाम देते वक्त भारी संख्या में पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई थी और कुल 8 बुलडोजर मदरसे को ध्वस्त करने के काम पर लगाए गए थे।मामले के बारे में जानकारी देते हुए बोंगाईगांव के एसपी स्वप्निल डेका ने बताया कि मंगलवार को मदरसा अथॉरिटी को तोड़फोड़ के बारे में नोटिस जारी किया गया था। इस मदरसे में लगभग 200 छात्र थे जिनमें से अधिकांश को घर भेज दिया गया, और बाकी बचे छात्रों को आसपास के स्कूलों में शिफ्ट कर दिया गया। इस मदरसे में पढ़ाने वाले हाफिजुर रहमान को 26 अगस्त को 2 इमामों द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर गिरफ्तार किया गया था। इन दो इमामों को गोलपारा जिले से गिरफ्तार किया गया था।डेका ने कहा, को आपदा प्रबंधन अधिनियम के प्रावधानों के तहत ध्वस्त कर दिया गया। बता दें कि असम पुलिस पिछले कुछ महीनों से आतंकियों के खिलाफ लगातार अभियान चला रही है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, पिछले 5 महीनों में पुलिस ने भारतीय उपमहाद्वीप में अल-कायदा (AQIS) और अंसारुल्लाह बांग्ला टीम (ABT) से कथित संबंधों के आरोप में लगभग 40 लोगों को गिरफ्तार किया है और 3 मदरसों पर चल चुका है।क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सPitru Paksha 2020: पिंडदान से पितरों को मिलता है मोक्ष, जानें तर्पण विधि और पिंडदान करने का सही तरीका******आज आश्विन कृष्ण पक्ष की पंचमी तिथि और सोमवार का दिन है। पंचमी तिथि आज रात 9 बजकर 39 मिनट तक रहेगी। आज उन लोगों का कर्म किया जायेगा, जिनका स्वर्गवास किसी भी महीने के कृष्ण या शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को हुआ हो। साथ ही जिनका देहांत अविवाहित अवस्था में, यानी कि शादी से पहले ही हो गया हो । इस दिन श्राद्ध कर्म करने वालों को प्रसाद में उत्तम लक्ष्मी की प्राप्ति होती है। आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए तर्पण के महत्व की और ये किस प्रकार किया जाता है। साथ ही जानिए पिंडदान करने की विधि।श्राद्ध में तर्पण का बहुत अधिक महत्व है। तर्पण से पितर संतुष्ट और तृप्त होते हैं। ब्रह्मवैवर्त पुराण के अनुसार जिस प्रकार वर्षा का जल सीप में गिरने से मोती, कदली में गिरने से कपूर, खेत में गिरने से अन्न और धूल में गिरने से कीचड़ बन जाता है। उसी प्रकार तर्पण के जल से सूक्ष्म वाष्पकण देव योनि के पितर को अमृत, मनुष्य योनि के पितर को अन्न, पशु योनि के पितर को चारा और अन्य योनियों के पितरों को उनके अनुरूप भोजन और सन्तुष्टि प्रदान करते हैं। साथ ही जो व्यक्ति तर्पण कार्य पूर्ण करता है, उसे हर तरह का लाभ मिलता है |तर्पण मुख्य रूप से छः प्रकार से किये जाते हैं, जो कि इस प्रकार हैं । देव-तर्पण.... , ऋषि तर्पण..... , दिव्य मानव तर्पण..... दिव्य पितृ-तर्पण...... यम तर्पण और मनुष्य-पितृ तर्पण ।श्राद्ध के दौरान तर्पण के लिये एक लोटे में साफ जल लेकर उसमें थोड़ा दूध और काले तिल मिलाकर तर्पण कार्य करना चाहिए। पितरों का तर्पण करते समय एक पात्र में जल लेकर दक्षिण दिशा में मुख करके बायां घुटना मोड़कर बैठें और अगर आप जनेऊ धारण करते हैं, तो अपने जनेऊ को बायें कंधे से उठाकर दाहिने कंधे पर रखें और हाथ के अंगूठे के सहारे से जल को धीरे-धीरे नीचे की ओर गिराएं।इस प्रकार घुटना मोड़कर बैठने की मुद्रा को पितृ तीर्थ मुद्रा कहते हैं। इसी मुद्रा में रहकर अपने सभी पितरों को तीन-तीन अंजुलि जल देना चाहिए और ध्यान रहे तर्पण हमेशा साफ कपड़े पहनकर श्रद्धा से करना चाहिए। बिना श्रद्धा के किया गया धर्म-कर्म तामसी तथा खंडित होता है।स्थानीय जगहों पर अपने पूर्वज़ों के श्राद्ध वाले दिन पितरों के निमित खीर, पूड़ी, सब्जी और साथ ही अपने पितर की कोई मनपसंद भोजन बनाने का विधान है और इस भोजन को गोबर से बने उपले या कंडों की कोर पर रखकर पितरों को भोग लगाया जाता है और दोनों हाथों से कोर के बायीं ओर, यानी अपनी दाहिनी तरफ पानी छोड़ा जाता है। इस क्रिया को ही स्थानीय भाषा में पिंडदान कहा जाता है।लेकिन कुछ शास्त्रों के अनुसार श्राद्ध-कर्म में पके हुए चावल, दूध और तिल को मिश्रित करके पिंड बनाए जाते हैं और इस क्रिया को सपिण्डीकरण कहा जाता है। यहां पिण्ड का अर्थ है शरीर। श्राद्ध में पूर्वजों के निमित्त पिंड बनाकर उनसे अपने आने वाले जीवन की शुभेच्छा की प्रार्थना की जाती है। कहते हैं पिण्डदान करने वाले व्यक्ति को उसके पूर्वज़ों के आशीर्वाद से संतति, सम्पति, विद्या और हर प्रकार की सुख-समृद्धि मिलती है।दरअसल हर पीढ़ी के अंदर मातृकुल और पितृकुल दोनों की पहले तीन पीढ़ियों के गुणसूत्र उपस्थित होते हैं। अतः पिंडदान के लिये जो दूध, चावल और तिल के पिण्ड बनाये जाते हैं, वो पिता, पितामह और प्रतिपितामह के शरीरों का प्रतीक हैं। इन पिंडों को बनाकर आपस में मिलाया जाता है, फिर उन्हें अलग बांटा जाता है। इससे एक बात क्लियर है कि जिन-जिन लोगों के गुणसूत्र, यानी जीन्स व्यक्ति की देह में उपस्थित हैं, उन सबकी तृप्ति के लिये ये श्राद्ध कार्य या अनुष्ठान किया जाता है।पिण्डदान के लिये पितृतीर्थ मुद्रा में दक्षिणाभिमुख होकर, यानी दक्षिण दिशा में मुख करके, अपना बायां घुटना मोड़कर बैठना चाहिए और मंत्र के साथ पिंड किसी थाली या पत्तल में स्थापित करने चाहिए।इस तरह सबसे पहला पिंड देवताओं के निमित निकालें...दूसरा पिंड ऋषियों के निमित.....तीसरा दिव्य मानवों के निमित.....चौथा दिव्य पितरों के लियेपांचवां पिंड यम के नाम....छठा मनुष्य-पितरों के नाम.......सातवां मृतात्मा के नाम............आठवां पिंड पुत्र रहितों के नाम........नौवां उच्छिन्न कुलवंश वालों के नाम......दसवां पिंड गर्भपात से मर जाने वालों के नाम........ग्यारहवां और बारहवां पिंड इस जन्म या अन्य जन्म के बन्धुओं के निमितइस तरह से कुल बारह पिंड थाली या पत्तल में निकाले जाते हैं और उन पर क्रमशः दूध, दही और मधु चढ़ाकर पितरों से तृप्ति की प्रार्थना की जाती है। दूध चढ़ाते समय ये मंत्र

क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सNavratri 2018: व्रत के दौरान चाहिए ग्लोइंग स्किन तो 5 बादाम में इस खास चीज को मिलाकर लगाएं******नईदिल्ली: आज से नवरात्र शुरु हो गए हैं। इस दौरानकई लोग 9 दिन का व्रत रखतेहैं तो कई लोग पूरेदिन व्रत रखकरशाम के वक्त खानाखा लेतेहैं। लेकिनइस दौरानभूखे रहने की वजह चेहरे का ग्लो खत्म हो जाताहै। ऐसे में आप क्या करेंगे? फेस्टिवल सीजन शुरू हो चुका है। नवरात्रि की धूम से लेकर करवाचौथ-दीवाली तक, हर मौके पर महिलाएं खूबसूरत दिखना चाहती है। कुछ महिलाएं तो पार्लर जाकर फेशियल करवाती भी हैं लेकिन इंस्टेंट ग्लो के लिए बार-बार तो पार्लर नहीं जाया जा सकता। ऐसे में आज हम आपको बादाम से बने कुछ फेस पैक के बारे में बताएंगे, जोकि न सिर्फ आपको दमकती हुए त्वचा देंगे बल्कि इससे चेहरे के दाग-धब्बे, पिंपल्स और मुंहासों की समस्या भी दूर हो जाएगी।बादाम को पीसकर उसमें नींबू का रस लगाएं। अब आंखों के पास वाला हिस्सा छोड़कर इसे पूरा चेहरे और गर्दन पर अप्लाई करें और कुछ देर बाद पानी से धो लें। इसके बाद लोशन लगाना न भूलें। यह फेस पैक बंद पोर्स को खोलकर चेहरे को चमकदार बनाता है।1 चम्मच पिसी हुई मुल्तानी मिट्टी, कुछ बूंदें गुलाबजल और 2 चम्मच बादाम पाउडर को मिलाएं। इस 10 मिनट चेहरे पर लगाने के बाद पानी से चेहरा धो लें। ऑयली स्किन के लिए यह बेस्ट फेस पैक है।4-5 बादामों को पीसकर उसमें शहद मिक्स करें। इसे 10 मिनट चेहरे पर लगाने से भी आपको इंस्टेंट ग्लोइंग स्किन मिलेगी और साथ ही इससे चेहरे की अन्य प्रॉब्लम भी दूर हो जाएगी।पिसे हुए बादाम में 2 चम्मच नारियल का दूध मिलाकर चेहरे पर लगाएं और सूखने के बाद पानी से धो लें। यह फेस पैक आपको स्किन टोन को हल्का करने में मदद करता है और साथ ही इससे निखरी हुई त्वचा भी मिलती है।बादाम को भिगो दें और इसके बाद इसे पीस लें। अब इसमें पपीते का पल्प मिलाकर 10 मिनट तक चेहरे पर लगाएं। 15 मिनट ऐसे ही रहने दें और फिर पानी से साफ कर लें। निखरी हुई त्वचा देने के साथ-साथ यह कील-मुंहासे, पिंपल्स, और ब्लैकहैड्स की समस्या को भी दूर करता है।यह फेस पैक चेहरे के दाग को हटाता है और साथ ही रंगत निखारने में भी मदद करता है। इसके लिए एलोवेरा जेल को पिसे हुए बादाम के साथ मिलाएं। फिर इसे चेहरे और गर्दन पर लगाएं। कुछ देर बाद सादे पानी से धो लें।क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सIndependence Day: देश के रेलवे स्टेशनों और एयरपोर्ट्स पर यात्री देखेंगे ऐसी तस्वीरें, जानिए सरकार को किसने लिखा लेटर******Highlightsदेश के रेलवे स्टेशनों, एयरपोर्ट्स व अन्य सार्वजनिक स्थानों पर लोगों को देश की 'विभाजन की त्रासदी' के बारे में बताया जाएगा। आजादी की 75वे अमृत महोत्सव पर लोगों को 1947 में हुए देश के विभाजन की त्रासदी से रूबरू कराने के लिए सरकार प्रदर्शनी लगाएगी। सरकार 10 अगस्त से 14 अगस्त तक रेलवे स्टेशनों, हवाई अड्डों और मॉल जैसे प्रमुख सार्वजनिक स्थानों पर ‘विभाजन की भयावहता’ पर प्रदर्शनियों का आयोजन करेगी। संस्कृति मंत्रालय ने रेल मंत्रालय को स्टेशन परिसर में ऐसी प्रदर्शनियां आयोजित करने के लिए पत्र लिखा है ताकि अधिक से अधिक लोग उसे देख पाएं।प्रदर्शनी की सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम हों: संस्कृति मंत्रालयमंत्रालय ने यह भी सलाह दी है कि 'प्रदर्शनी के लिए सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम किए जाएं।’ पिछले साल अपने स्वतंत्रता दिवस भाषण में, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 14 अगस्त को ‘विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस’ के रूप में मनाने की घोषणा की थी। संस्कृति मंत्रालय के सचिव गोविंद मोहन ने रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) वीके त्रिपाठी को लिखे पत्र में कहा है, ‘ देशभर में विभिन्न रेलवे स्टेशनों के माध्यम से आपके मंत्रालय की व्यापक पहुंच है। इसलिए, यह निर्णय लिया गया है कि आप रेलवे स्टेशनों से इस प्रदर्शनी को 700 स्थानों पर प्रदर्शित करने के लिए कह सकते हैं।’ यह प्रदर्शनी, अंग्रेजी और हिंदी में, ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ वेबसाइट पर डिजिटल प्रारूप में उपलब्ध है।पीएम मोदी ने आजादी के अमृत महोत्सव पर की हर घर तिरंगा लगाने की अपीलदरअसल, आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर केंद्र सरकार द्वारा आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। इसे खास बनाने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों हर घर तिरंगा लगाने की बात भी कही। पीएम मोदी ने खुद अपने सोशल मीडिया पर प्रोफाइल की फोटो चेंज कर दिया है। उन्होंने 'मन की बात' के दौरान देशवासियों से आग्रह किया था कि आप सभी अपने सोशल मीडिया अकाउंट के प्रोफाइल फोटो पर तिरंगा लगाएं। साथ ही साथ कहा था कि आप सभी हर घर तिरंगा अभियान से जुड़ें।20 करोड़ घरों की छतों पर फहराया जाएगा तिरंगाइस साल 15 अगस्त को आजादी के 75 साल पूरे होने वाले हैं। इसी मौके पर केंद्र सरकार ने कई बड़े फैसले लिए हैं। सरकार ने फैसला किया है कि वह इस बार हर घर तिरंगा अभियान चलाएगी, जिसके तहत लगभग 20 करोड़ घरों की छतों पर तिरंगा फहराया जाएगा। इस अभियान से देशवासियों के बीच राष्ट्र भावना की एक अलग अलख जगेगी। अगर इस अभियान का हिस्सा आप बनना चाहते हैं तो अपने घर के नजदीकी डाकघर में तिरंगा ले लें या आप चाहें तो ऑनलाइन भी तिरंगा खरीद सकते हैं। सरकार इस अभियान को 13 अगस्त से लेकर 15 अगस्त तक चलाएगी। सरकार का उद्देश्य है कि इस अभियान से ज्यादा से ज्यादा लोग जुड़ें।

क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सAkshay Kumar एक बार फिर बने सबसे ज्यादा टैक्स भरने वाले बॉलीवुड एक्टर, Income Tax से मिला सम्मान******बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार (Akshay Kumar) हिंदी फिल्म उद्योग के सबसे अधिक टैक्स भरने वाले एक्टर के तौर पर जाने जाते हैं। इस बीच अक्षय कुमार को भारत के आयकर विभाग (Income Tax department) ने सम्मान पत्र से सम्मानित किया है, जिसकी एक फोटो सोशल मीडिया पर भी खूब वायरल हो रही है। हालांकि, अभिनेता ने इस पर कोई टिप्पणी नहीं की है।रिपोर्ट के अनुसार, अक्षय की ओर से उनकी टीम ने उनका यह सम्मान पत्र लिया है। रिपोर्ट के अनुसार, अक्षय की ओर से उनकी टीम ने उनका यह सम्मान पत्र लिया है। वहीं, अक्षय कुमार पिछले 5 सालों से लगातार भारत के सबसे अधिक टैक्स भरने वाले लोगों की लिस्ट में शामिल हैं।अक्षय के फैंससोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर उन्हें बधाई देते हुए जमकर कमेंट कर रहे हैं। एक फैंन ने सम्मान पत्र की तस्वीर साझा करते हुए लिखा, 'आयकर विभाग ने सुपरस्टार अक्षय कुमार को सम्मान पत्र के साथ सम्मानित किया है और उन्हें हिंदी फिल्म उद्योग से सबसे अधिक करदाता करार दिया है। नफरत करने वालों को उन्हें कनेडियन कहने से पहले इसे देखना चाहिए।'अक्षय कुमार आखिरी बार मानुषी छिल्लर के साथ 'सम्राट पृथ्वीराज' में नजर आए थे।फिलहाल खिलाड़ी कुमारटीनू देसाई की अपकमिंग फिल्म की शूटिंग के लिए लंदन में हैं। इसके बाद वह अपनी आने वाली फिल्म 'रक्षाबंधन' के प्रमोशन में भी व्यस्त होंगे।इस फिल्म का निर्देशन आनंद एल राय ने किया है।'रक्षाबंधन' 11 अगस्त 2022 को रिलीज होने वाली है। इसके अलावा अक्षय 'सेल्फी', 'राम सेतु', 'ओह माई गॉड 2' में भी दिखाई देंगे।क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सMumbai Metro News| Aarey में नहीं काटे गए कोई पेड़, सिर्फ झाड़ियों और शाखाओं की छंटाई की: MMRCL******Highlights मुंबई मेट्रो रेल निगम लिमिटेड (MMRCL) ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट को बताया कि अक्टूबर 2019 के बाद मुंबई की Aarey कॉलोनी में कोई पेड़ नहीं काटा गया है। MMRCL की तरफ से पेश हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने जज यू यू ललित की अध्यक्षता वाली पीठ को बताया कि उन्होंने 2019 में उच्चतम न्यायालय के सामने बयान दिया था कि आरे कालोनी में मेट्रो कोच शेड के लिये और पेड़ नहीं काटे जाएंगे। और उसके बाद से कोई पेड़ नहीं काटा गया है। मेहता ने पीठ से कहा, “मैंने एक बयान दिया था कि अब और कोई पेड़ नहीं काटे जाएंगे और मैंने आज एक हलफनामा दाखिल किया है कि उसके बाद, कोई पेड़ नहीं काटा गया।”आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट एक याचिका पर सुनवाई कर रही थी जिसमें आरोप लगाया गया था कि अधिकारियों ने आरे कालोनी में पेड़ों को फिर से काटना शुरू कर दिया है। मेहता ने कहा कि जमीन पर कुछ झाड़ियां थीं जिन्हें साफ कर दिया गया है और कुछ शाखाओं की छंटाई की गई है ताकि वहां से वाहन गुजर सकें। उन्होंने कहा, “यह छंटाई (शाखाओं की) हुई है। मैंने हलफनामे में यहीं कहा है। कोई पेड़ नहीं काटा जा रहा है।”हलफनामे को रिकॉर्ड में लेते हुए पीठ ने कहा कि और चीजों पर विचार किए जाने तक निगम की तरफ से दाखिल हलफनामे में व्यक्त किए गए रुख के मद्देनजर कोई विशिष्ट अंतरिम निर्देश दिए जाने की आवश्यकता नहीं है। पीठ ने कहा, “यह कहना पर्याप्त है कि जैसा कि संबंधित प्रतिवादी द्वारा बताया गया है, सात अक्टूबर, 2019 के आदेश के बाद से आगे कोई पेड़ नहीं काटा गया है, और सुनवाई की अगली तारीख तक भी किसी तरह से पेड़ नहीं काटे जाएंगे।” पीठ ने इसके साथ ही मामले में सुनवाई की अगली तारीख 10 अगस्त तय की।

पिछला:COVID-19 महामारी से लोगों के व्‍यवहार में आया बदलाव, ATM से अधिक पैसा निकाल रहे लेकिन भुगतान डिजिटल माध्यम से
अगला:Indian Idol 12: अमित कुमार विवाद पर पहली बार बोली अंजलि गायकवाड़, कहा- हमें बुरा..
संबंधित आलेख