मुखपृष्ठ > चूंगचींग
30 मई से ये कंपनियां नहीं आएंगी NSE पर नजर, स्टॉक एक्सचेंज करने जा रहा है इन्हें डीलिस्ट
रिलीज़ की तारीख:2022-09-29 05:12:09
विचारों:323

मईसेयेकंपनियांनहींआएंगीNSEपरनजरस्टॉकएक्सचेंजकरनेजारहाहैइन्हेंडीलिस्टIND vs WI : रोहित शर्मा और सुरेश रैना की बराबरी पर पहुंचे हार्दिक पांड्या, जानिए ऐसा क्या कर दिया******Highlightsभारत और वेस्टइंडीज के बीच खेले गए टी20 सीरीज के आखिरी मैच में कप्तान रोहित शर्मा को रेस्ट दिया गया, वहीं टीम की कमान हार्दिक पांड्या ने संभाली। चौथा मैच जीतने के साथ ही टीम इंडिया ने सीरीज अपने नाम कर ली थी, इसलिए भारतीय टीम के पास आखिरी मैच में प्रयोग करने का मौका था, इसीलिए कुछ बड़े खिलाड़ी रेस्ट पर थे और जो खिलाड़ी अभी तक बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पाए थे, या फिर जिन्हें मौका नहीं मिला था, उन्हें टीम में शामिल किया गया। ये तीसरा बार था, जब हार्दिक पांड्या ने भारतीय टीम की कमान संभाली। इस मैच में जीत के साथ ही हार्दिक पांड्या ने रोहित शर्मा और सुरेश रैना की बराबरी कर ली है।हार्दिक पांड्या को आयरलैंड के खिलाफ पहली बार टीम इंडिया की कप्तानी करने मौका मिला। इस सीरीज में टीम इंडिया ने दोनों मैच अपने नाम किए थे और सीरीज जीती थी। इसके बाद अब जाकर उन्हें वेस्टइंडीज के खिलाफ भी कप्तानी का मौका मिला और इसमें भी टीम इंडिया जीती। इससे पहले रोहित शर्मा ने जब टीम इंडिया की कप्तानी शुरुआती तीन मैचों में कप्तानी की थी, तब उन्होंने भी तीनों मैच जीते थे, इसके बाद जब सुरेश रैना कभी कभी कप्तान बने तो उन्होंने भी अपने तीन मैच जीते। इस तरह से अब हार्दिक पांड्या इन तीनों की बराबरी कर चुके हैं। हालांकि इतने अच्छे प्रदर्शन के बाद भी सुरेश रैना केवल तीन ही टी20 इंटरनेशनल मैचों में भारतीय टीम की कप्तानी कर सके। माना जा रहा है कि हार्दिक पांड्या आने वाले कुछ समय में टीम इंडिया के उपकप्तान बन सकते हैं। इसके बाद जब भी रोहित शर्मा रेस्ट करेंगे तो हार्दिक पांड्या कप्तानी करते हुए नजर आने वाले हैं।हार्दिक पांड्या ने अपनी कप्तानी में खेले गए इस मैच में अच्छी बल्लेबाजी भी की। उन्होंने 16 गेंद पर 28 रन की पारी खेली। इस दौरान उनके बल्ले से दो चौके और दो छक्के आए, लेकिन वे बड़ी पारी खेल पाते, इससे पहले ही रन आउट हो गए। भारतीय टीम ने सात विकेट पर 188 रन बनाए थे, इसके बाद जब वेस्टइंडीज की टीम इस टारगेट का पीछा करने के लिए मैदान में उतरी तो 15.4 ओवर में केवल 100 रन ही बना सकी और टीम इंडिया ने 88 रन से मैच अपने नाम कर लिया।

मईसेयेकंपनियांनहींआएंगीNSEपरनजरस्टॉकएक्सचेंजकरनेजारहाहैइन्हेंडीलिस्टBhool Bhulaiyaa 2 Trailer: आमीजे तोमार... फिर गूंजा मंजूलिका का गाना, कार्तिक, कियारा, तब्बू की फिल्म का ट्रेलर******Highlights और की हॉरर कॉमेडी फिल्म 'भूल भुलैया 2' का ट्रेलररिलीज हो गया है। ट्रेलर में एक बार फिर मंजूलिका का खौफ नजर आ रहा है। आमीजे तोमार... की धुन सुनाई दे रही है, मगर इस बार भूत भगाने के लिए अक्षय कुमार नहीं कार्तिक आर्यन आए हैं। कार्तिक आर्यन, कियारा आडवाणी, तब्बू, संजय मिश्रा और राजपाल यादव जैसे सितारों से सजी फिल्म रिलीज होने के लिए तैयार है और उससे पहले फिल्म का धमाकेदार ट्रेलर रिलीज हो गया है।यहां देखिए ट्रेलर-फिल्म के ट्रेलर से पहले कई सारे पोस्टर्स सामने आ चुके हैं, जिसे दर्शकों का खूब प्यार मिल रहा है। ट्रेलर लॉन्च से दो घंटे पहले भी एक दिलचस्प पोस्टर सामने आया है, जिसमें कार्तिक, कियारा और तब्बू नजर आ रहे हैं। इनके अलावा संजय मिश्रा और राजपाल यादव भी पोस्टर में नजर आ रहे हैं।हाल ही में कार्तिक आर्यन की फिल्म 'भूलभुलैया 2' से उनका टीजर सामने आया था, जिसे फैंस ने खूब पसंद किया था। इससे पहले कार्तिक आर्यन की फिल्म 'धमाका' नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई थी, जिसे खूब पसंद किया गया था। आने वाले दिनों में भी कार्तिक आर्यन के पास कई शानदार फिल्में हैं। कार्तिक फ्रेडी, कैप्टन इंडिया और शहजादा जैसी फिल्मों के साथ फैंस का मनोरंजन करने के लिए तैयार हैं।इससे पहले भूलभुलैया में अक्षय कुमार, शाइनी आहूजा, विद्या बालन जैसे सितारे नजर आए थे। यह फिल्म खूब पसंद की गई थी। लोगों की जुबान पर मंजूलिका और आमीजे तोमार चढ़ गया था, देखना दिलचस्प होगा कि कार्तिक आर्यन को इस रोल में फैंस कितना पसंद करते हैं।मईसेयेकंपनियांनहींआएंगीNSEपरनजरस्टॉकएक्सचेंजकरनेजारहाहैइन्हेंडीलिस्ट30 साल देश की सेवा करने के बाद अंतिम सफर पर निकला INS विराट, जानें पूरी कहानी****** भारतीय नौसेना का सेवामुक्त विमानवाहक युद्धपोत INS विराट शनिवार को अपनी अंतिम समुद्री यात्रा पर गुजरात स्थित अलंग के लिए रवाना हुआ। अलंग में इस जहाज को टुकड़ों में काटकरकबाड़ के रूप में बेच दिया जाएगा। विशालकाय युद्धपोत विराट को पूर्व नौसैनिकों ने गेटवे ऑफ इंडिया से भावभीनी विदाई दी। मार्च 2017 में सेवामुक्त किए जाने के बाद नौसेना डॉकयार्ड से विराट की अंतिम यात्रा की शुरुआत हो गई थी। रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि विराट को शुक्रवार को ही जाना था लेकिन कुछ कारणों से एक दिन का विलंब हुआ।INS विराट मूल रूप से ब्रिटेन की रॉयल नेवी में HMS हरमेस नामक युद्धपोत था। भारतीय नौसेना में शामिल किए जाने के बाद इसका नाम भारतीय नौसैनिक पोत (INS) विराट रखा गया था। यह पोत मुंबई में 2017 में सेवामुक्त होने से पहले 30 वर्षों तक भारतीय नौसेना की सेवा में था। यह भारतीय बेड़े में एकमात्र युद्धपोत था जिसने ब्रिटेन की शाही नौसेना और बाद में भारतीय नौसेना में सेवा दी थी। तत्कालीन ब्रिटेन निर्मित जहाज ने 2258 दिनों तक समुद्र में रहकर भारतीय नौसेना की सेवा की और 5,90,000 समुद्री मील और 22,622 घंटे देश की सेवा में उड़ान संचालन को कवर किया।'HMS हर्मिस' के रूप में इस युद्धपोत ने नवंबर 1959 से अप्रैल 1984 तक ब्रिटिश नौसेना की सेवा की थी। साल 1974 में प्रिंस चार्ल्स ने 'HMS हर्मिस' पर सवार 845 नेवल एयर स्क्वॉड्रन उड़ाए थे। बाद में इसे भारतीय नौसेना में ‘INS विराट' के रूप में मई 1987 में व्यापक नवीनीकरण और इसकी युद्धक क्षमताओं को बढ़ाने के बाद शामिल किया गया था। करीब 1,500 क्रू दल के साथ वह लड़ाकू-तैयार हवाई जहाजों और हेलीकाप्टरों का एक बड़ा भार उठा सकता था। इसने अक्टूबर 2001-जुलाई 2002 में ऑपरेशन पराक्रम में भाग लिया, 18 जुलाई से 17अगस्त, 1989 तक श्रीलंका में ऑपरेशन पवन में भाग लिया, और अपने लंबे समुद्री करियर में उसने कई अन्य असाधारण उपलब्धियां हासिल की थीं।रक्षा मंत्रालय के मुंबई स्थित जनंसपर्क कार्यालय ने ट्वीट किया, ‘एक युग का अंत। भारतीय नौसेना के इतिहास का गौरवशाली अध्याय। युद्धपोत मुंबई से अपनी अंतिम यात्रा के लिए निकल रहा है। पुराने पोत कभी मरते नहीं। वे अमर होते हैं।’ विराट के अलावा भारतीय नौसेना के एक अन्य विमानवाहक युद्धपोत विक्रांत को भी संग्रहालय बनाने का प्रयास विफल रहा था। सोशल मीडिया पर बहुत से लोगों ने इसको लेकर पूर्ववर्ती सरकारों की आलोचना की। उनका कहना था कि युद्धपोत को कबाड़ के रूप में बेचने से अच्छा था कि उन्हें संग्रहालय बनाकर देश की सामुद्रिक शक्ति की धरोहर को सुरक्षित रखा जाता।

30 मई से ये कंपनियां नहीं आएंगी NSE पर नजर, स्टॉक एक्सचेंज करने जा रहा है इन्हें डीलिस्ट

मईसेयेकंपनियांनहींआएंगीNSEपरनजरस्टॉकएक्सचेंजकरनेजारहाहैइन्हेंडीलिस्टGuru Purnima 2020: गुरु पूर्णिमा के खास मौके पर अपने करीबियों को दें शुभकामनाएं******आषाढ़ पूर्णिमा को का पर्व मनाया जाता है। गुरु का स्थान सर्वोपरि माना जाता है। इस बार गुरु पूर्णिमा 5 जुलाई, रविवार को पड़ रही है। माना जाता है कि गुरु ही वह व्यक्ति होता है जो इंसान को जीवन का सबसे अहम पाठ सीखाता है। हिंदू धर्म में गुरु पूर्णिमा का विशेष महत्व है। इस खास मौके पर इन मैसेज, तस्वीरों, कोट्स के द्वारा अपने गुरुओं, माता-पिता और आपका सही मार्ग दर्शन दिखाने वाले लोगों को दें शुभकामनाएं।गुरु पूर्णिमा के अवसर परमेरे गुरु के चरणों में प्रणाम,मेरे गुरु जी कृपा राखियोतेरे ही अर्पण मेरे प्राण !आपसे सीखा और जाना,आप को ही गुरु माना,सीखा सब आपसे हमने,कलम का मतलब भी आपसे जानागुरु पूर्णिमा की हार्दिक शुभकामनाएंअक्षर-अक्षर हमें सिखाते शब्द-शब्द का अर्थ बताते,कभी प्यार से कभी डांट से, जीवन जीना हमें सिखाते।शुभ गुरु पूर्णिमागुरु बिन ज्ञान नहीं,ज्ञान बिन आत्मा नहीं,ध्यान, ज्ञान, धैर्य और कर्म,सब गुरु की ही देन हैं !!शुभ गुरु पूर्णिमागुरु गोविंद दोउ खड़े काके लागूं पाय।बलिहारी गुरु आपने गोविंद दियो बताए।।गुरु पूर्णिमा की हार्दिक शुभकामनाएंमईसेयेकंपनियांनहींआएंगीNSEपरनजरस्टॉकएक्सचेंजकरनेजारहाहैइन्हेंडीलिस्टAshok Gehlot: कांग्रेस अध्यक्ष बनेंगे अशोक गहलोत? सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद कही ये बात******Highlightsकांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए एक प्रमुख दावेदार के रूप में देखे जा रहे राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को कहा कि जब तक आधिकारिक रूप से कोई फैसला नहीं हो जाए तब तक कोई टिप्पणी नहीं की जा सकती। उन्होंने यह भी कहा कि फैसला क्या होगा, क्या नहीं होगा, यह किसी को मालूम नहीं है। गहलोत ने यह टिप्पणी उस वक्त की है जब एक दिन पहले मंगलवार को उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। माना जा रहा है कि इस मुलाकात के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव के संदर्भ में चर्चा हुई है।नया अध्यक्ष गांधी परिवार से बाहर का होगा?यह पूछे जाने पर कि क्या यह निर्णय हुआ है कि कांग्रेस का नया अध्यक्ष गांधी परिवार से बाहर का होगा तो कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गहलोत ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘कांग्रेस में किसी ने आपको (मीडिया को) यह बताया है क्या ? जब तक आधिकारिक रूप से कोई फैसला नहीं हो जाता, तब तक आप या मैं कोई टिप्पणी नहीं कर सकते।’’ अध्यक्ष पद पर उनकी दावेदारी की संभावना से जुड़े सवाल पर गहलोत ने कहा, ‘‘यह बहुत लंबे अरसे से मीडिया में चल रहा है। फैसला क्या होगा, क्या नहीं होगा, किसी को मालूम नहीं है।’’मुझे दो जिम्मेदारियां दी गई हैं: गहलोतसोनिया गांधी के साथ मुलाकात के संदर्भ में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘सोनिया गांधी चिकित्सा जांच के लिए विदेश गई हैं। हमने शिष्टाचारवश मुलाकात की थी। मैं और वेणुगोपाल जी गुजरात जा रहे थे तो गुजरात के लिए हमने उनसे आशीर्वाद भी लिया। ’’ उनका यह भी कहना था, ‘‘मुझे दो जिम्मेदारियां दी गई हैं। एक तो गुजरात के लिए मुझे वरिष्ठ पर्यवेक्षक बनाया गया है, वह मैं निभाता रहूंगा। (राजस्थान के) मुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी सौंपी गई है वह मैं निभाता रहूंगा। राजस्थान में कांग्रेस की सरकार एक बार फिर से कैसे बने, यह मेरा प्रयास रहेगा। यही मेरे दो काम रहेंगे।’’ यह पूछे जाने पर कि क्या वह आज कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलेंगे तो गहलोत ने कहा, ‘‘वह सोनिया गांधी के साथ बाहर गए हैं।’’ उल्लेखनीय है कि सोनिया गांधी चिकित्सा जांच के लिए विदेश गई हैं।मईसेयेकंपनियांनहींआएंगीNSEपरनजरस्टॉकएक्सचेंजकरनेजारहाहैइन्हेंडीलिस्टMonkeypox News: मंकीपॉक्स से बचने के लिए सावधानी और सतर्कता बढ़ानी होगी - WHO******Highlights दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन WHO की क्षेत्रीय निदेशक ने सदस्य देशों से मंकीपॉक्स से निपटने के लिए सावधानी बढ़ाने और जन स्वास्थ्य से जुड़े कदमों को मजबूत करने को कहा है। क्षेत्रीय निदेशक डॉ.पूनम खेत्रपाल सिंह ने कहा कि मंकीपॉक्स तेजी से और कई ऐसे देशों में फैल रहा है, जहां पहले इसके मामले सामने नहीं आए थे, जो बड़ी चिंता का कारण है।उन्होंने कहा, ‘‘संक्रमण के मामले ज्यादातर उन पुरुषों में पाए गए हैं, जिन्होंने पुरुषों के साथ संबंध बनाए। ऐसे में उस आबादी पर केंद्रित प्रयास करके बीमारी को और फैलने से रोका जा सकता है, जिनमें संक्रमण का खतरा अधिक है।’’ वैश्विक स्तर पर, 75 देशों में मंकीपॉक्स के 16,000 से अधिक मामले सामने आए हैं। WHO दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र में, मंकीपॉक्स के चार मामले सामने आए हैं, जिनमें से तीन भारत में और एक थाईलैंड में पाया गया है। क्षेत्रीय निदेशक ने कहा, ‘‘महत्वपूर्ण बात यह है कि हमारे प्रयास और कदम संवेदनशील तथा भेदभाव रहित होने चाहिए।’’WHO के महानिदेशक टेड्रोस ए.घेब्रेयसस ने शनिवार को कहा कि 70 से अधिक देशों में मंकीपॉक्स का प्रसार होना एक ‘‘असाधारण’’ हालात है और यह अब वैश्विक आपात स्थिति है। डॉ सिंह ने कहा, ‘‘हालांकि वैश्विक स्तर पर और क्षेत्र में मंकीपॉक्स का जोखिम मध्यम है, लेकिन इसके अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फैलने का खतरा वास्तविक है। इसके अलावा, वायरस के बारे में अब भी कई बातों का पता नहीं चल पाया है। हमें मंकीपॉक्स को और फैलने से रोकने के लिए सतर्क रहने और तेजी से कदम उठाने को तैयार रहने की जरूरत है।’’ मंकीपॉक्स संक्रमित जानवर के प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष संपर्क में आने से मनुष्यों में फैलता हैं। एक मनुष्य से दूसरे मनुष्य में यह संक्रमण संक्रमित की त्वचा और श्वास छोड़ते समय नाक या मुंह से निकलने वाली छोटी बूंदों के संपर्क में आने से फैलता है।

30 मई से ये कंपनियां नहीं आएंगी NSE पर नजर, स्टॉक एक्सचेंज करने जा रहा है इन्हें डीलिस्ट

मईसेयेकंपनियांनहींआएंगीNSEपरनजरस्टॉकएक्सचेंजकरनेजारहाहैइन्हेंडीलिस्टTokyo Olympics 2020 : बजरंग पुनिया ने ईरान के पहलवान को हराकर सेमीफाइनल में बनाई जगह, मेडल से बस एक जीत दूर******कुश्ती में भारत के लिए टोक्यो ओलंपिक में पदक की आखिरी उम्मीद बजरंग पूनिया ने सेमीफाइनल में जगह बना ली है। बजरंग ने क्वार्टर फाइनल में ईरान के मुर्तजा चेका घियासी के खिलाफ 65 किग्रा भार वर्ग में अपने अनुभव और कौशल का शानदार इस्तेमाल करते हुए जीत दर्ज की।ईरान के पहलवान ने पहले पीरियड में एक अंक जुटाकर बजरंग पर बढ़त बनाई थी। इस पीरियड में ज्यादातर समय बजरंग घियासी की रक्षात्मक खेल को मात नहीं दे सके। इस दौरान घियासी ने बजरंग के दायें पैर पर मजबूत पकड़ बना ली थी।दूसरे पीरियड के आखिरी क्षणों में भी घियासी ने बजरंग के दायें पैर पर फिर से मजबूत पकड़ बनाने में सफल रहे लेकिन भारतीय पहलवान ने शानदार कौशल का परिचय दिया और वह इससे बाहर निकलने में सफल रहे। उन्होंने इसके बाद घियासी को चित कर जीत दर्ज की।बजरंग को फाइनल में जगह बनाने के लिए अजरबैजान के हाजी अलीव से भिड़ना होगा। अलीव तीन बार के विश्व चैंपियन और रियो खेलों के कांस्य विजेता हैं। बजरंग ने इससे पहले किर्गीस्तान के अर्नाजार अकमातालिएव को हराकर क्वार्टर फाइनल में जगह पक्की की थी।ओलंपिक खेलों के अपने पहले मुकाबले के शुरुआती पीरियड के आखिरी क्षणों में बजरंग ने अकमालालिएव को मैट पर पटक कर 3-1 की बढ़त बना ली लेकिन किर्गीस्तान के पहलवान ने दूसरे पीरियड में पुशआउट के जरिये दो बार एक-एक अंक जुटाकर स्कोर बराबर कर दिया।बजरंग ने दो अंक वाला एक स्कोर बनाया था इसलिए उन्हें विजेता घोषित किया गया। बजरंग के लिए यह मुकाबला आसान नहीं था। वह रूस के एक स्थानीय टूर्नामेंट के दौरान घुटने की मामूली चोट से उबर कर इन खेलों में आए हैं।मईसेयेकंपनियांनहींआएंगीNSEपरनजरस्टॉकएक्सचेंजकरनेजारहाहैइन्हेंडीलिस्टTwin Tower में अगर आपने बुक किया था Flat तो जान लें Supreme Court ने खरीददारों के हक में क्या दिया है फैसला?****** जाएगा। उसके लिए आज दोपहर के 2 बजकर 30 मिनट का समय निर्धारित किया गया है। इस पूरी प्रक्रिया में 9से 12 सेकंड लगेंगे। हालांकि टॉवर गिराए जाने से कहीं अधिक चिंता उन लोगों को हो रही है जिन्होनें इस में अपना पैसा लगाकर कराया है। ऐसे में अगर आपने भी इस ट्विन टॉवर में फ्लैट बुक कराया था तो आपके लिए एक अच्छी खबर है। ने खरीददारों के हक में फैसला देते हुए यह आदेश दिया है कि उनका पूरा पैसा वापस किया जाए। न्यायालय ने नोएडा के सेक्टर 93ए के एमराल्ड कोर्ट प्रोजेक्ट में स्थित इन ‘ट्विन-टॉवर’ को गिराने का आदेश दिया है और इस भवन को 28 अगस्त को तोड़ा जाना है। शीर्ष अदालत ने दिवाला प्रक्रिया का सामना कर रही फर्म के अंतरिम समाधान पेशेवर (आईआरपी) को शीर्ष अदालत की रजिस्ट्री में एक करोड़ रुपये जमा करने को भी कहा।न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़, न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना और न्यायमूर्ति जे बी पारदीवाला की पीठ ने कहा कि ‘ट्विन-टॉवर’ के घर खरीदारों को उनके द्वारा जमा किया गया पूरा धन वापस मिलेगा। हालांकि, फिलहाल उन्हें एक करोड़ रुपये में से भुगतान किया जाएगा, जिसे 30 सितंबर तक आईआरपी द्वारा जमा किया जाएगा।न्यायालय के पिछले साल के आदेश के अनुसार घर खरीदारों को उनका पैसा वापस किया जाना है। इस आदेश के तहत धनवापस करने की मांग करने वाली कई अवमानना ​​​​याचिकाओं पर इस समय सुनवाई चल रही है। पीठ ने कहा कि वह यह सुनिश्चित करेगी कि ट्विन-टॉवरों के घर खरीदारों को अदालत के 31 अगस्त 2021 के आदेश के अनुसार उनका पूरा धन वापस मिले।सुप्रीम कोर्ट की बैंच ने कहा, ‘‘इस बीच, यह सुनिश्चित करने के लिए कि इस अदालत के फैसले के तहत घर खरीदारों को उनकी बकाया राशि का कुछ रिफंड मिले, हम आईआरपी को इस अदालत की रजिस्ट्री में 30 सितंबर तक एक करोड़ रुपये की राशि जमा करने का निर्देश देते हैं।’’न्यायालय ने कहा कि न्याय मित्र गौरव अग्रवाल अक्टूबर के पहले सप्ताह में आईआरपी के साथ बैठेंगे और संयुक्त रूप से घर खरीदारों की बकाया राशि पर काम करेंगे। अग्रवाल सुनवाई की अगली तारीख से पहले इस संबंध में पूरा विवरण जमा करेंगे, ताकि कुछ राशि वापस लौटाई जा सके।

30 मई से ये कंपनियां नहीं आएंगी NSE पर नजर, स्टॉक एक्सचेंज करने जा रहा है इन्हें डीलिस्ट

मईसेयेकंपनियांनहींआएंगीNSEपरनजरस्टॉकएक्सचेंजकरनेजारहाहैइन्हेंडीलिस्टकुवैत और ओमान के बाद अब इस देश ने भी 'सम्राट पृथ्वीराज' की रिलीज पर लगाया बैन******Highlightsअक्षय कुमार और मानुषी छिल्लर की फिल्म 'सम्राट पृथ्वीराज' 3 जून को रिलीज होने के लिए तैयार है। अक्षय और मानुषी जोरों-शोरों से फिल्म के प्रमोशन में जुटे हैं, लेकिन अब उनके लिए खास अच्छी खबर नहीं है। पहले हमने आपको बताया था कि कुवैत और ओमान ने अक्षय कुमार की फिल्म 'सम्राट पृथ्वीराज' की रिलीज पर रोक लगा दी है। अब कतर देश ने भी फिल्म की रिलीज पर रोक लगा दी है। 'सम्राट पृथ्वीराज' राजा पृथ्वीराज चौहान के जीवन और पराक्रम पर आधारित है। अक्षय उस महान योद्धा की भूमिका निभा रहे हैं।विदेशी क्षेत्रों में काम करने वाले एक सूत्र ने नाम न छापने की शर्तों पर कहा, "इन देशों में यह मुद्दा अनावश्यक रूप से धार्मिकता के साथ उठाया जा रहा है। लोगों को एक ऐसी फिल्म देखनी चाहिए जो इतिहास पर आधारित हो और तटस्थ दृष्टिकोण से प्रामाणिक हो।"भारत को आक्रमणकारियों द्वारा लूटा गया था। तथ्य यह है कि सम्राट पृथ्वीराज चौहान ने ऐसे ही एक आक्रमणकारी से लड़ाई की और अपनी अंतिम सांस तक भारत की रक्षा करने की कोशिश की। इतिहास को देखना चाहिए कि यह क्या है।सूत्र ने आगे कहा, "कुवैत और ओमान में प्रतिबंध के बाद अब एक और इस्लामी देश कतर ने फिल्म की रिलीज को रोक दिया है। इन देशों में रहने वाले भारतीय फिल्म नहीं देख पाएंगे और यह वास्तव में दुर्भाग्यपूर्ण है। फिल्म जीवन में एक बार हर किसी के लिए अपने इतिहास को देखने और आनंद लेने और जश्न मनाने के लिए आता है।"'सम्राट पृथ्वीराज' का निर्देशन डॉ. चंद्रप्रकाश द्विवेदी ने किया है। मानुषी छिल्लर ने राजा पृथ्वीराज की प्यारी संयोगिता की भूमिका निभाई है। फिल्म इस शुक्रवार को हिंदी, तमिल और तेलुगू में रिलीज होने वाली है।"

मईसेयेकंपनियांनहींआएंगीNSEपरनजरस्टॉकएक्सचेंजकरनेजारहाहैइन्हेंडीलिस्टBihar News: आरजेडी को बिहार में मिलेगा नया अध्यक्ष, जातिगत समीकरणों की वजह से ये नाम आगे...******Highlightsबिहार में हाल ही में सत्तारूढ़ हुई राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के लिए अब नए प्रदेश अध्यक्ष को लेकर मंथन शुरू हो गया है। बिहार में विधानसभा चुनाव हारने के बावजूद जदयू से गठबंधन कर सत्ता तक पहुंची पार्टी तेजस्वी यादव और वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के नेतृत्व में कमोवेश अपनी बेहतर स्थिति में है।वैसे, यह सर्वविदित है कि प्रदेश अध्यक्ष कोई भी हो, RJD की राजनीतिक कमान के असली हकदार और उस पर अधिकार रखने वाला लालू परिवार ही है। पार्टी के RJD के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव हैं और तय माना जा रहा है कि आगे भी वही होंगे। पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन में उनके नाम पर विधिवत मुहर लगेगी। पार्टी का राष्ट्रीय अधिवेशन 9-10 अक्टूबर को दिल्ली में होगा। उधर, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष का चयन 21 सितंबर को होगा। पार्टी ने अभी इसके लिए नामों का चयन नहीं किया है।हालांकि इसके कई दावेदार हैं। इनमें अब्दुल बारी सिद्दिकी, उदय नारायण चौधरी और श्याम रजक के नाम भी शामिल हैं। जगदानंद सिंह को फिर से कमान देने पर भी विचार किया जा रहा है। पार्टी अगला प्रदेश अध्यक्ष ऐसे चेहरे को चाह रही है, जो RJD की सियासी रफ्तार को गति दे सके और संगठन को मजबूत कर सके। इसे लेकर लालू परिवार में मंथन का दौर जारी है। इसमें कोई शक नहीं कि लालू अब तक पार्टी में बड़े फैसले लेते रहे हैं, लेकिन तेजस्वी के राजनीति में कद बढ़ने के बाद पार्टी के फैसलों में हस्तक्षेप कर रहे हैं।तेजस्वी पार्टी में अनुशासन और सबकी सहभागिता जैसी बातों को लेकर चल रहे हैं और पार्टी इसी रफ्तार से आगे भी बढ़ रही है। RJD के सूत्रों की मानें तो पार्टी उस व्यक्ति को अध्यक्ष बनाएगी, जिसका पार्टी नेताओं से और लालू परिवार से बेहतर तालमेल होगा। वैसे कहा यह भी जा रहा है कि RJD में पार्टी की कमान के जरिए सामाजिक समीकरण को भी साधने के प्रयास में है। ऐसे में पार्टी की कमान किसी सवर्ण को मिले तो कोई आश्चर्यजनक नहीं होगा। कहा जा रहा है कि पार्टी मुस्लिम, यादव के परंपरागत समीकरण को सुरक्षित रखते हुए भूमिहार और राजपूत के साथ यादवों की ट्यूनिंग बिठाने की भी कोशिश करेगी।मईसेयेकंपनियांनहींआएंगीNSEपरनजरस्टॉकएक्सचेंजकरनेजारहाहैइन्हेंडीलिस्टPetrol Price: इस शहर में 1 रुपये/लीटर में बेचा गया पेट्रोल, जानिए क्या थी वजह?******Highlights पेट्रोलियम उत्पादों की बढ़ती कीमतों का विरोध करने एवं डॉ. बी आर आंबेडकर की जयंती के मौके पर गुरुवार को महाराष्ट्र के सोलापुर में एक स्थानीय संगठन ने 500 व्यक्तियों को एक रुपये प्रति लीटर की दर से पेट्रोल (Petrol Price) बेचा। हालांकि, इस दौरान हर ग्राहक को बस एक लीटर पेट्रोल दिया गया। उसके बाद भी पेट्रोल पंप पर बड़ी संख्या में लोग पहुंचे थे। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को तैनात किया गया था। यह कार्यक्रम ‘डॉ. आंबेडकर स्टूडेंट्स एंड यूथ पैंथर्स' ने आयोजित किया था।संगठन की प्रदेश इकाई के नेता महेश सर्वगौडा ने कहा, ‘‘महंगाई तेजी से बढ़ी है। नरेंद्र मोदी सरकार में 120 रुपये प्रति लीटर हो गया है। इसलिए लोगों को राहत प्रदान करने एवं डॉ. बाबासाहब आंबेडकर की जयंती मनाने के लिए एक रुपये की दर पर पेट्रोल बेचने का फैसला किया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यदि हमारे जैसा छोटा संगठन 500 लोगों को राहत दे सकती है तो सरकार को भी राहत प्रदान करना चाहिए।’’पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार 9वें दिन स्थिर()

मईसेयेकंपनियांनहींआएंगीNSEपरनजरस्टॉकएक्सचेंजकरनेजारहाहैइन्हेंडीलिस्टशेन वॉर्न पर बयान देकर घिरे गावस्कर, कहा- नहीं थे दुनिया के सबसे बेहतरीन स्पिनर******Highlightsमहान बल्लेबाज सुनील गावस्कर के उपर बयान देकर घिर गए हैं। गावस्कर का मानना है कि दिवंगत शेन वॉर्न ने अपने कैरियर में जादुई गेंदबाजी की लेकिन वह सर्वकालिक महानतम स्पिनर नहीं हैं क्योंकि भारत में उनका प्रदर्शन ‘औसत’ रहा । वॉर्न ने 1992 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण के बाद से आस्ट्रेलिया के लिये 145 टेस्ट खेलकर 708 विकेट लिये । उन्होंने 194 वनडे में 293 विकेट चटकाये । यह पूछने पर कि क्या वॉर्न को वह महानतम स्पिनर मानते हैं, गावस्कर ने कहा कि वह भारतीय स्पिनरों और श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन को वॉर्न से ऊपर रखेंगे ।उन्होंने एक निजी चैनल से बात करते हुए कहा ,‘‘ मैं ऐसा नहीं कहूंगा। मेरी नजर में भारतीय स्पिनर और मुथैया मुरलीधरन उनसे बेहतर हैं।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ इसका कारण यह है कि भारत के खिलाफ शेन वॉर्न का रिकॉर्ड औसत रहा है। भारत में उन्होंने एक ही बार नागपुर में पांच विकेट लिये।’’ गावस्कर ने कहा ,‘‘ भारतीय खिलाड़ियों के खिलाफ उन्हें अधिक सफलता नहीं मिली क्योंकि भारतीय स्पिन को बखूबी खेलते हैं। इसलिये मैं उन्हें महानतम नहीं कहूंगा। मुथैया मुरलीधरन भारत के खिलाफ अधिक कामयाब रहे हैं। मैं उन्हें वॉर्न से ऊपर रखूंगा।’’ गावस्कर ने वॉर्न की तारीफ भी की लेकिन आस्ट्रेलियाई मीडिया और सोशल मीडिया यूजर्स ने उनके बयान की टाइमिंग को लेकर निंदा की है।मईसेयेकंपनियांनहींआएंगीNSEपरनजरस्टॉकएक्सचेंजकरनेजारहाहैइन्हेंडीलिस्टAgneepath Scheme: TMC ने शिंजो आबे की हत्या का अग्निपथ योजना से बिठाया कनेक्शन, जानें पार्टी के मुखपत्र में क्या लिखा******Highlightsतृणमूल कांग्रेस (TMC) ने जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे की हत्या के बाद केंद्र सरकार को अग्निपथ योजना के प्रति आगाह किया। टीएमसी ने सरकार को आगाह करते हुए कहा है कि जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे की हत्या अल्पकालिक सेवा देने वाले एक पूर्व सैनिक ने की है। पार्टी ने दावा किया कि जापान में हुई हत्या भारत में विवादास्पद रक्षा भर्ती कार्यक्रम के संभावित नुकसान को रेखांकित करती है। हालांकि, प्रदेश भाजपा ने इस आशंका को खारिज करते हुए कहा कि कोई भी भारतीय पूर्व सैनिक ऐसी किसी भी घटना में शामिल नहीं रहा है।दरअसल, तृणमूल कांग्रेस (TMC) के मुखपत्र 'जागो बांग्ला' ने शनिवार को एक लेख छापा। 'जागो बांग्ला' के लेख में लिखा, "एक पूर्व सैनिक के हाथों आबे की मौत ने अग्निपथ योजना को लेकर लोगों के डर की पुष्टि की है।" इसमें दावा किया गया कि हमलावर ने तीन साल की सेवा के बाद जापानी समुद्री आत्मरक्षा बल की अपनी नौकरी खो दी थी और उसे कोई पेंशन नहीं मिल रही थी। 'जागो बांग्ला' में कहा गया है कि अग्निवीरों को भी उनकी चार साल की सेवा अवधि समाप्त होने के बाद कोई पेंशन नहीं मिलेगी।टीएमसी प्रवक्ता कुणाल घोष ने रविवार को कहा, "भाजपा अग्निपथ योजना के नाम पर आग से खेल रही है। हमने देखा कि जापान में क्या हुआ है। एक पूर्व सैनिक ने पूर्व प्रधानमंत्री की हत्या कर दी।" वहीं भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने कहा कि इस तरह की आशंकाएं निराधार हैं। प्रदेश भाजपा के प्रवक्ता समिक भट्टाचार्य ने कहा, "हमने ऐसी किसी घटना के बारे में कभी नहीं सुना जिसमें हमारे देश का कोई पूर्व सैनिक शामिल रहा हो। टीएमसी सिर्फ इस मामले का राजनीतिकरण करने की कोशिश कर रही है।"जापान के सबसे प्रभावशाली नेताओं में शुमार शिंजो आबे की शुक्रवार को एक चुनावी सभा के दौरान भाषण देते समय गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। दुनिया के सबसे सुरक्षित देशों में से एक माने जाने वाले जापान में इस घटना ने लोगों को स्तब्ध कर दिया, जहां बंदूक नियंत्रण संबंधी कड़े कानून हैं। आबे (67) को देश के पश्चिमी हिस्से के नारा में भाषण शुरू करने के कुछ मिनटों बाद हमलावर ने आबे पर गोली चलाई थी। आबे को विमान से एक अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उनकी सांस नहीं चल रही थी और उनकी हृदय गति रुक गयी थी। पुलिस ने मौके से जापान की नौसेना के एक पूर्व सदस्य तेत्सुया यामागामी को गिरफ्तार किया था।

मईसेयेकंपनियांनहींआएंगीNSEपरनजरस्टॉकएक्सचेंजकरनेजारहाहैइन्हेंडीलिस्टMaharashtra: पुणे में सनकी पापा ने अपनी 8 साल की बच्ची को गोली मारी, शराब के नशे में धुत था शख्स******Highlightsमहाराष्ट्र के पुणे शहर में एक शख्स ने पत्नी से बहस के बाद अपनी 8 साल की बेटी को कथित तौर पर गोली मारकर घायल कर दिया है। पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी। एक अधिकारी ने बताया कि सिंहगड रोड थाने में आरोपी पांडुरंग उभे (38) के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, जो कि एक ‘कंस्ट्रक्शन’ कारोबारी है। उन्होंने बताया, यह घटना शुक्रवार की है। शराब के नशे में धुत उभे रात करीब आठ बजे घर लौटा और पत्नी और परिवार के अन्य सदस्यों के साथ उसकी किसी बात पर बहस हुई।अधिकारी ने बताया कि तभी गुस्से में आकर आरोपी ने अपनी लाइसेंसी रिवॉल्वर निकाल कर पत्नी पर तान दी। इस बीच, उसकी बेटी राजनंदिनी चिल्लाने लगी, जिसके बाद आरोपी ने बेटी पर गोली चला दी। उन्होंने बताया कि बच्ची को एक निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां उसका इलाज चल रहा है। उन्होंने कहा कि मामले के संबंध में आगे की जांच जारी है।छत्तीसगढ़ में बेटे ने गला घोंटकर बीमार मां को मार डालामां और बेटे के रिश्ते को इस दुनिया में सबसे प्यारा और मजबूत रिश्ता माना जाता है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि एक बेटा अपनी मां की देखभाल करते हुए इतना ज्यादा नफरत से भर सकता है कि वह अपनी मां की हत्या कर दे? छत्तीसगढ़ के रायपुर जिले से एक ऐसी ही खबर सामने आई है। यहां अपनी बीमार मां की देखभाल करने से परेशान बेटे ने कथित तौर पर उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।पुलिस अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि शहर के टिकरापारा थाना क्षेत्र के अंतर्गत मठपारा इलाके में शकुंतला जाधव (76) की हत्या के आरोप में उसके बेटे जयेश जाधव (35) को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि शकुंतला की मौत इस महीने की 20 तारीख को हुई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर मामले का खुलासा हुआ।मईसेयेकंपनियांनहींआएंगीNSEपरनजरस्टॉकएक्सचेंजकरनेजारहाहैइन्हेंडीलिस्टदूसरी तिमाही में अग्रिम कर संग्रह 25.5 प्रतिशत कम रहा, पहली तिमाही के मुकाबले सुधार: सूत्र******एडवांस टैक्स कलेक्शन में 25 फीसदी की गिरावटनई दिल्ली। चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में अग्रिम कर संग्रह 25.5 प्रतिशत की गिरावट के साथ 1,59,057 करोड़ रुपये रहा है। आयकर विभाग के एक अधिकारी ने बृहस्पतिवार को इसकी जानकारी दी। हालांकि, पहली तिमाही की तुलना में अग्रम कर संग्रह की स्थिति में सुधार आया है। जून में खत्म हुई तिमाही में अग्रिम कर संग्रह 76 प्रतिशत गिरकर 11,714 करोड़ रुपये रह गया था। कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के लिये देश भर में लगाये गये कठोर लॉकडाउन के कारण यह स्थिति बनी थी। एक साल पहले 15 सितंबर 2019 तक की अवधि के दौरान कुल अग्रिम कर संग्रह 2,12,889 करोड़ रुपये रहा था, यह राशि भी इससे पिछले साल के 3,70,652 करोड़ रुपये से काफी कम रही थी।मुंबई क्षेत्र के एक वरिष्ठ आयकर अधिकारी ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘सालाना आधार पर दूसरी तिमाही में कुल अग्रिम कर संग्रह 25.5 प्रतिशत गिरकर 1,59,057 करोड़ रुपये रहा है जो कि एक साल पहले इसी अवधि में 2,12,889 करोड़ रुपये रहा था। इनमें से कंपनियों ने अग्रिम कर में केवल 1,29,619.6 करोड़ रुपये का योगदान दिया, जो साल भर पहले की तुलना में 27.3 प्रतिशत कम है। इस दौरान व्यक्तिगत आयकर संग्रह साल भर पहले के 34,632.9 करोड़ रुपये से 15 प्रतिशत कम होकर 29,437.5 करोड़ रुपये रहा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि टीडीएस (स्रोत पर कर कटौती) ने अपेक्षाकृत बेहतर प्रदर्शन किया। इसमें महज 5.6 प्रतिशत की गिरावट आयी और यह साल भर पहले के 1,46,792.4 करोड़ रुपये की तुलना में कम होकर 1,38,605.2 करोड़ रुपये रहा है।’’ इससे पहले जून 2020 को समाप्त तिमाही में अग्रिम कॉरपोरेट कर संग्रह 79 प्रतिशत घटकर 8,286 करोड़ रुपये रहा, जो जून 2019 की इसी तिमाही में 39,405 करोड़ रुपये रहा था। अधिकारी ने कहा कि पहली तिमाही में अग्रिम व्यक्तिगत आयकर संग्रह 64 प्रतिशत घटकर 3,428 करोड़ रुपये रह गया, जो एक साल पहले इसी अवधि में 9,512 करोड़ रुपये था।

पिछला:Stock Market This Week: टॉप 10 में से 7 कंपनियों का मार्केट कैप 53,800 करोड़ रुपए बढ़ा, रिलायंस को सबसे ज्यादा फायदा
अगला:मोदी सरकार के पास अगले साल आएगी स्विस बैंक में जमा की जानकारी, गड़बड़ी पता चलने पर होगी कार्रवाई
संबंधित आलेख