मुखपृष्ठ > चांगज़ि
आपके राउटर से अगर कोई Internet की कर रहा है चोरी, तो ऐसे लगाएं पता
रिलीज़ की तारीख:2022-09-29 05:13:29
विचारों:942

आपकेराउटरसेअगरकोईInternetकीकररहाहैचोरीतोऐसेलगाएंपताYes Bank NPA: यस बैंक ने कहा, 2020-21 में कायम रहेगी डूबे कर्ज की समस्या******Yes Bank NPA संकट में फंसे निजी क्षेत्र के यस बैंक का मानना है कि अगले वित्त वर्ष 2020-21 में भी उसकी गैर निष्पादित आस्तियों () की समस्या कायम रहेगी। हालांकि, बैंक के नामित मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) प्रशांत कुमार को भरोसा है कि 10,000 करोड़ रुपए के पूंजी निवेश के बाद बैंक फिर से खड़ा हो सकेगा। गौरतलब है कि, डूबे कर्ज के दबाव की वजह से यस बैंक को चालू वित्त वर्ष की दिसंबर में समाप्त तीसरी तिमाही में 18,654 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है। यह निजी क्षेत्र के किसी बैंक का अब तक का सबसे ऊंचा घाटा है। बैंक से पिछले छह माह के दौरान 72,000 करोड़ रुपये की निकासी हुई और यह आंकड़ा 1.37 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया। कुमार का मानना है कि 10,000 करोड़ रुपए के पूंजी निवेश और 1,000 से अधिक शाखाओं और मजबूत उपभोक्ता आधार के चलते यस बैंक 'चलती हालत' में बना रहेगा। बैंक ने कुमार के आकलन का उल्लेख करते हुए कहा, 'प्रस्तावित पूंजी निवेश और बैंक के ग्राहकों की अच्छी संख्या और शाखाओं के नेटवर्क के जरिये बैंक का कारोबार बना रहेगा। सामान्य कामकाज में बैंक न केवल अपनी संपत्तियां वसूल सकेगा बल्कि देनदारियों का भुगतान भी कर सकेगा।' बता दें कि, कुमार को रिजर्व बैंक ने यस बैंक का प्रशासक नियुक्त किया है। वह बैंक पर लगाई गई रोक समाप्त होने के बाद बुधवार शाम से सीईओ का पद संभालेंगे।निवेशकों के समक्ष प्रस्तुतीकरण में बैंक ने कहा कि उसके द्वारा कॉरपोरेट जगत को दिया गया एक-तिहाई कर्ज डूबे कर्ज की श्रेणी में आ गया है। इस वजह से कुमार की अगुवाई वाला नया प्रबंधन आगे चलकर खुदरा और छोटे कारोबारी ऋण पर ध्यान केंद्रित करेगा। बैंक ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि 8,500 करोड़ रुपये के अतिरिक्त टियर-1 बांड को पुनर्गठन की प्रक्रिया शुरू करने से पहले पूरी तरह बट्टे खाते में डाला जाएगा। ने कुमार को पांच मार्च को बैंक का प्रशासक नियुक्त किया था। बैंक अपने लिए जरूरत की पूंजी जुटाने में विफल रहा था जिसके बाद सरकार ने उसके निदेशक मंडल को भंग कर दिया।माना जा रहा है कि में संकट की मुख्य वजह कथित रूप से सह संस्थापक और पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी राणा कपूर का कुप्रबंधन रहा है। रिजर्व बैंक ने कामकाज के संचालन में खामियों के बाद कपूर का कार्यकाल घटा दिया था।कपूर के उत्तराधिकारी रवनीत गिल ने बैंक के बही खाते में दबाव वाली संपत्तियों की पहचान शुरू की। मार्च, 2019 को समाप्त तिमाही में बैंक को पहली बार तिमाही घाटा हुआ। निवेशक प्रस्तुतीकरण में बैंक ने कहा है कि दिसंबर, तिमाही तक उसकी दबाव वाली संपत्तियां 24,587 करोड़ रुपये हो गई हैं। वर्ष 2021-22 के वित्त वर्ष में ही इसमें चीजें दुरुस्त हो सकेंगी। बैंक ने निवेशकों से कहा कि 2020-21 में उसका डूबा कर्ज संपत्तियों का पांच प्रतिशत रहेगा। दिसंबर, 2019 को समाप्त तिमाही में बैंक की संपत्तियां 22 प्रतिशत घटकर 2.90 करोड़ रुपये रह गईं।

आपकेराउटरसेअगरकोईInternetकीकररहाहैचोरीतोऐसेलगाएंपतामेरे सामने अभी तक नहीं आया है एएन-32 घूसखोरी मामला: राजनाथ सिंह****** केन्द्रीय गृह मंत्री ने आज कहा कि उनके सामने अब तक ऐसा कोई मामला नहीं आया है जिसमें यूक्रेन के नेशनल एंटी-करप्शन ब्यूरो (एनएबी) से के मालवाहक विमान एएन-32 के कलपुर्जों की खरीदारी में कथित तौर पर 17.55 करोड़ रुपए की घूसखोरी की बात कही गयी हो। इस संबंध में पूछे गये सवाल के जवाब में राजनाथ ने यहां संवाददाताओं को बताया, ‘‘ऐसा कोई मामला मेरे सामने अभी तक नहीं आया है।’’उनसे सवाल किया गया था कि मालवाहक विमान एएन-32 के कलपुर्जों की खरीदारी में 17.55 करोड़ रुपए की घूसखोरी के संबंध में यूक्रेन की एनएबी द्वारा जांच के लिए उनके मंत्रालय से मांगे गए कानूनी सहयोग के बारे में उनकी क्या प्रतिक्रिया है? गौरतलब है कि यूक्रेन की सरकारी कंपनी स्पेट्सटेक्नो एक्सपोर्ट ने भारत के रक्षा मंत्रालय के साथ वर्ष 2014 में मालवाहक विमान एएन-32 के कलपुर्जों की खरीदारी के संबंध में एक समझौता किया था।यूक्रेन के एंटी करप्शन ब्यूरो को शक है कि इस मामले में भारतीय रक्षा मंत्रालय के कुछ अधिकारियों की मिलीभगत हो सकती है। इसलिए इस साल फरवरी में यूक्रेन के एनएबी ने भारतीय दूतावास के माध्यम से भारत के गृह मंत्रालय से ‘कानूनी सहयोग’ देने का अनुरोध किया है।आपकेराउटरसेअगरकोईInternetकीकररहाहैचोरीतोऐसेलगाएंपताशनिदेव की पूजा के दौरान रखें इन बातों का खास ख्याल, अन्यथा लाभ की जगह हो सकता है नुकसान******Highlightsशनिदेव को न्याय और दण्ड का देवता माना जाता है। ज्योतिष की माने तो शनि देव की महादशा, साढ़े साती या ढैय्या हर व्यक्ति के जीवन को एक बार जरूर प्रभावित करती है। इनकी वक्र दृष्टि की वजह से लोगों को अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है।ऐसे में लोग शनिदेव को प्रसन्न करने और उनकी सजा से बचने के लिए उनकी पूजा करते हैं। लेकिन आपको बता दें कि शनिदेव की पूजा के समय आपको कुछ सावधानियां जरूर बरतनी चाहिए, वरना उनकी पूजा करने वाला भी उनके कोप का शिकार बन सकता है।अगर आप भी शनिवार के दिन शनि मंदिर जाते हैं और शनिदेव की पूजा अर्चना करते हैं तो ऐसे में आपके लिए ये जानना बेहद जरूरी है कि शनिदेव की पूजा के वक्त आपको क्या सावधानियां बरतनी चाहिए। आइए जानते हैं उन सावधानियों के बारे में।अगर आप भी शनिदेव की पूजा करने मंदिर गए हैं तो पूजा के दौरान शनिदेव की आंखों में न देखें और शनिदेव की मूर्ति के ठीक सामने न खड़े हो। ऐसे में जब आप उनकी पूजा करें तो अपनी या तो अपनी आंखें बंद रखें या फिर उनके चरणों की तरफ देखें। मान्यताओं के अनुसार, शनिदेव की आंखों में आंखें डालकर देखने से शनिदेव की दृष्टि सीधे आप पर पड़ती है।शनिदेव की पूजा के दौरान कभी भी तनकर खड़े ना हों। साथ ही कहा जाता है कि जब भी आप शनिदेव की पूजा करके वहां से हटें तो जिस अवस्था में खड़े थे उसी अवस्था में पीछे की तरफ होते आएं। शनिदेव को पीठ नहीं दिखानी चाहिए। ऐसा करने से शनिदेव नाराज हो सकते हैं।शनिदेव की पूजा के दौरान रंगों का भी ध्यान रखना चाहिए। पूजा के दौरान लाल रंग के कपड़े पहनने से बचें। ऐसे में आप उनके प्रिय रंग जैसे नीले और काले वस्त्र पहन सकते हैं।अगर शनिदेव को तेल अर्पित करने जा रहे हैं तो तांबे के बर्तन का इस्तेमाल ना करें। हमेशा लोहे के बर्तन का ही उपयोग करें। ऐसा इसिलए क्योंकि तांबा सूर्य का कारक है और सूर्यदेव और शनिदेव आपस में परम शत्रु हैं।शनिदेव की पूजा के दौरान दिशा का भी खास ख्याल रखना चाहिए। आमतौर पर लोग पूर्व की ओर मुख करके पूजा करते हैं। लेकिन शनिदेव पश्चिम के स्वामी कहे जाते हैं। इसलिए इनकी पूजा करते वक्त साधक का मुंह पश्चिम की तरफ होना चाहिए।

आपके राउटर से अगर कोई Internet की कर रहा है चोरी, तो ऐसे लगाएं पता

आपकेराउटरसेअगरकोईInternetकीकररहाहैचोरीतोऐसेलगाएंपताकमजोर वैश्विक संकेत और मांग में गिरावट से कीमती धातुओं में नरमी, सोना डेढ़ माह के निचले स्‍तर पर पहुंचा****** विदेशों में कमजोरी के रुख और स्थानीय आभूषण विक्रेताओं की मांग में गिरावट के बीच यहां राष्ट्रीय राजधानी के सर्राफा बाजार में सोना 290 रुपए घटकर 28,930 रुपए प्रति 10 ग्राम के भाव पर आ गया। यह पिछले डेढ़ माह का सबसे निचला स्‍तर है। चांदी भी 200 रुपए गिरकर 38,500 रुपए प्रति किग्रा पर आ गई।बाजार सूत्रों ने कहा कि विदेशों में सोने की कमजोरी के रुख के अलावा घरेलू हाजिर बाजार में आभूषण और फुटकर विक्रेताओं की ओर से मांग के अभाव में सोने की कीमतों में गिरावट आई है।सिंगापुर में सोना 0.27 प्रतिशत गिरकर 1,223.40 डॉलर प्रति औंस और चांदी 0.56 प्रतिशत गिरकर 15.98 डॉलर प्रति औंस रह गया।दिल्ली सर्राफा बाजार में 99.9 और 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाले सोने के भाव 290-290 रुपए की गिरावट के साथ क्रमश: 28,930 रुपए और 28,780 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ। 23 मई के बाद का यह न्यूनतम स्तर है। इस तरह चार दिन में सोना 480 रुपए नीचे आ चुका है।गिन्नी की कीमत 24,400 रुपए प्रति आठ ग्राम पर अपरिवर्तित बनी रही।चांदी टंच 200 रुपए की तेजी के साथ 38,500 रुपए और साप्ताहिक डिलीवरी का भाव 155 रुपए की तेजी के साथ 37,485 रुपए प्रति किग्रा रहा।सिक्का चांदी (लिवाल) 72,000 रुपए और बिकवाल 73,000 रुपए प्रति सैकड़ा पर पूर्ववत बोला गया।आपकेराउटरसेअगरकोईInternetकीकररहाहैचोरीतोऐसेलगाएंपताWI vs ENG: मोइन अली के तूफान में उड़ा वेस्टइंडीज, चौथे टी20 में इंग्लैंड ने दर्ज की 34 रनों से जीत******Highlightsमोइन अली की तूफानी बल्लेबाजी से चौथे टी20 मैच में इंग्लैंड ने वेस्टइंडीज को 34 रन से हराकर सीरीज में 2-2 की बराबरी कर ली है। मुकाबले में वेस्टइंडीज की टीम ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का निर्णय किया था। पहले बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड ने की टीम ने निर्धारित 20 ओवर में 6 विकेट के नुकसान पर 193 रनों का स्कोर खड़ा किया, जिसके जवाब में मेजबान वेस्टइंडीज की टीम 20 ओवरों में 5 विकेट गंवाकर 159 रन ही बना सकी।इंग्लैंड के लिए बल्लेबाजी में कप्तान मोइन अली ने ताबड़तोड़ अंदाज में महज 28 गेंद में 63 रन बना डाले। अपनी इस पारी में उन्होंने ने 7 छक्के और 1 चौका लगाया। इसके अलावा जेसन रॉय ने 42 गेंदों में 52 रनों की पारी खेली। वहीं जेम्स विंसे ने 34 रन बनाए जबकि लिविंगस्टोन ने 16 और सैम बिलिंग्स ने 13 रनों का योगदान दिया।वेस्टइंडीज की तरफ से गेंदबाजी में जेसन होल्डर ने सबसे अधिक 3 विकेट लिए जबकि रोमारियो शेफर्ड, अकील हुसैन और कप्तान कीरोन पोलार्ड ने को एक-एक मिला।वहीं लक्ष्य का पीछा करने उतरी मेजबान टीम के लिए ओपनर बल्लेबाज ब्रेंडन किंग और काइल मेयर्स ने दमदार शुरुआत की थी। पहले विकेट के दोनों बीच के 64 रनों की साझेदारी हुई। ब्रेंडन ने 27 गेंद में 26 रन बनाए जबकि मेयर्स ने 23 गेंद में 40 रनों की पारी खेली। हालांकि इसके बाद टीम लगातार अंतराल पर विकेट गंवाती रही जिसके कारण वह लक्ष्य तक नहीं पहुंच सकी।इन दोनों बल्लेबाजों के अलावा वेस्टइंडीज के लिए जेसन होल्डर ने 24 गेंद में 36 रनों की पारी खेली। इसके अलावा निकोलस पूरन ने 22 रन बनाए जबकि कीरोन पोलार्ड ने 18 रनों का योगदान दिया।वहीं गेंदबाजी में इंग्लैंड के लिए मोइन अली ने विकेट लिए। इसके अलावा रीस टोपली, आदिल राशिद और लियाम लिविंगस्टोन को एक-एक विकेट मिला। मोइन अली को उनके बेहतरीन ऑलराउंड प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच भी चुना गया।आपकेराउटरसेअगरकोईInternetकीकररहाहैचोरीतोऐसेलगाएंपताCannes 2019: अपने कांस लुक में हुमा को 'गेम्स ऑफ थ्रोन्स' की आई याद******: कांस फिल्म फेस्टिवल के रेड कार्पेट पर वॉक करने के दौरान ग्रे कलर का रफल्स वाला गाउन पहने अभिनेत्री हुमा कुरैशी इस दौरान सिर्फ टीवी शो 'गेम ऑफ थ्रोन्स' के बारे में ही सोचती रहीं।वोदका ब्रांड ग्रे गूस का प्रतिनिधित्व कर रहीं हुमा ने गौरव गुप्ता द्वारा डिजाइन की गई ड्रेस पहनी।अपने लुक के बारे में हुमा ने आईएएनएस को बताया, "यह बेहद अलग होने के साथ ही क्लासिकल है, इसलिए मुझे लगता है कि इसके लिए 'गेम ऑफ थ्रोन्स' क्लासिक रेफरेंस होगा। गौरव गुप्ता ने इस खूबसूरत परिधान को बनाया है और उन्होंने महज चार दिनों में इसे तैयार किया।"हुमा ने 'अ हिडन लाइफ ऑफ टेरेंस मलिक' की स्क्रीनिंग के दौरान इस गाउन में रेड कार्पेट पर वॉक किया। अभिनेत्री डायना पेंटी ने भी इसी फिल्म की स्क्रीनिंग के लिए रेड कार्पेट पर पीच रंग के गाउन में वॉक किया।

आपके राउटर से अगर कोई Internet की कर रहा है चोरी, तो ऐसे लगाएं पता

आपकेराउटरसेअगरकोईInternetकीकररहाहैचोरीतोऐसेलगाएंपतामाइक्रोसॉफ्ट के CEO सत्‍या नडेला की सैलरी 2018-19 में 66% बढ़ी, मिले 4.29 करोड़ डॉलर******Microsoft CEO Satya Nadella earns USD 42.9 million in 2018-19 fiscalमाइक्रोसॉफ्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी की वार्षिक आय 2018-19 में 66 प्रतिशत बढ़कर 4.29 करोड़ डॉलर पर पहुंच गई। इस दौरान माइक्रोसॉफ्ट के वित्तीय परिणाम काफी अच्छे रहे हैं। गुरुवार को मीडिया की खबरों में कहा गया है कि नडेला का वेतन 23 लाख डॉलर है। उनकी आय में ज्यादातर हिस्सा शेयरों का रहा है। उन्हें शेयरों पर 2.96 करोड़ डॉलर की कमाई हुई, जबकि 1.07 करोड़ डॉलर गैर-शेयर प्रोत्साहन योजना से प्राप्त हुए। शेष 1,11,000 डॉलर की कमाई अन्य प्राप्तियों से हुई।हैदराबाद में जन्मे नडेला की कमाई वित्त वर्ष 2017-18 में 2.58 करोड़ डॉलर रही थी। नडेला 2014 में माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ बने थे। उनके कार्यकाल में माइक्रोसॉफ्ट क्लाउड कम्‍प्यूटिंग में एक बड़ी ताकत बनकर उभरी है।आपकेराउटरसेअगरकोईInternetकीकररहाहैचोरीतोऐसेलगाएंपताAlwar Mob Lynching Case: "अब तक 5 हमने मारे हैं, तुम भी मारो, जमानत हम करवाएंगे", पूर्व विधायक आहूजा के बयान पर कांग्रेस का हमला******Highlightsअपने बयानों के कारण कई बार विवादों में रह चुके भाजपा नेता और पूर्व विधायक ज्ञानदेव आहूजा ‘लिंचिंग’ पर अपने एक बयान को लेकर शनिवार को फिर से विवाद में घिर गए। आहूजा के बयान को लेकर राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस ने भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा और कहा कि इससे पार्टी का ‘कट्टरता वाला असली' चेहरा सामने आ गया है।भाजपा का असली चेहरा सामने आ गया है -गोविंद सिंह डोटासराकांग्रेस के प्रदेश अध्‍यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने आहूजा का एक वीड‍ियो साझा करते हुए ट्वीट किया है, ‘‘अब तक 5 हमने मारे हैं, कार्यकर्ताओं को खुली छूट दे रखी है मारो जमानत हम करवाएंगे। ये शब्द राजस्थान भाजपा कार्यकारिणी के सदस्य और पूर्व विधायक ज्ञानदेव आहूजा के हैं।'' डोटासरा के अनुसार, ‘‘भाजपा के मजहबी आतंक व कट्टरता का और क्या सबूत चाहिए? पूरे देश में भाजपा का असली चेहरा सामने आ गया है।’’ वहीं संपर्क करने पर आहूजा ने अपनी बात कायम रहते हुए कहा कि गौ-तस्करी और गोकशी में शामिल किसी भी व्यक्ति को गौ प्रेमी हिंदुओं द्वारा बख्शा नहीं जाएगा। हालांकि, भाजपा ने आहूजा की टिप्पणियों से खुद को दूर करते हुए कहा कि यह उनके निजी विचार हैं।सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था वीडियोसोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो कथित रूप से शुक्रवार का है जब आहूजा गोविंदगढ़ में चिरंजीलाल सैनी के परिवार से मिलने गए थे। कुछ लोगों ने ट्रैक्टर चोरी के संदेह में 14 अगस्‍त को सब्जी विक्रेता चिरंजीलाल को बुरी तरह पीटा जिसके कारण उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। पुलिस ने इस मामले में कई आरोपियों को गिरफ्तार किया है। वहीं, शनिवार को सोशल मीडिया पर आए वीडियो में आहूजा गोविंदगढ़ के एक कार्यक्रम में बैठे दिखाई दे रहे हैं। वीडियो में उन्हें यह कहते हुए सुना जा सकता है, ‘‘सब लोग बैठे हैं गोविंदगढ़ के, आंदोलन चलाना चाहिए, जबरदस्त चलाना चाहिए।’’ बीच में एक अन्य व्यक्ति कह रहा है, ‘‘बड़ा आंदोलन करने से ही दबाव बनेगा और यह कोई पहली घटना नहीं है।’’ इस पर आहूजा बीच में टोकते हुए कहते हैं, ‘‘नहीं, अब तक तो पांच हमने मारे हैं। चाहे लालवंडी में मारा, बहरोड़ में मारा। ये इस एरिया में पहली बार हुआ है। वरना मैंने तो कार्यकर्ताओं को खुली छूट दे रखी है कि मारो जो गोकशी या गो तस्करी करता मिले। बरी भी करवाएंगे, जमानत भी करवाएंगे। आंदोलन चलाने के लिए रूपरेखा बनानी पड़ती है।’’कांग्रेस ने मामले पर भाजपा और पूर्व विधायक पर जमकर निशाना साधाआहूजा का वीडियो सामने आने पर कांग्रेस ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा। कांग्रेस की प्रदेश इकाई के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया है, ‘‘पूर्व भाजपा विधायक ज्ञानदेव आहूजा का कबूलनामा सुनिए "अब तक तो 5 हमने मारे हैं।" इसके अनुसार, ‘‘हिंसात्मक घटनाओं का साजिशकर्ता राज्य में सौहार्द व कानून व्यवस्था बिगाड़कर खुलेआम दंगे कराने के लिए भड़का रहा है। राजस्‍थान पुलिस को संज्ञान लेकर कार्रवाई करनी चाहिए।’’अलवर में लगातार हो रही मॉब लींचिंग की घटनाएंउल्लेखनीय है कि हाल के वर्षों में अलवर में कुछ ऐसी घटनाएं हुई हैं जहां गौ तस्करी के आरोप में गौ रक्षकों ने समुदाय विशेष के लोगों पर हमला किया। ऐसी ही एक घटना में, एक अप्रैल 2017 को बहरोड़ में 55 वर्षीय पहलू खान की पीट पीटकर हत्या कर दी गई थी। इसी तरह, एक अन्य व्यक्ति रकबर (उर्फ अकबर) खान को 20 जुलाई 2018 को गौ तस्करी के संदेह में अलवर के रामगढ़ क्षेत्र के लालवंडी गांव के पास कुछ लोगों ने रोका और मारपीट की जिससे उसकी मौत हो गई।भाजपा ने कहा यह आहूजा की निजी रायविवादास्‍पद वीडियो के बारे में संपर्क करने पर, आहूजा ने कहा कि वह राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के एक स्थानीय नेता के साथ बैठे थे, जिन्होंने चिरंजीलाल सैनी की हत्या के विरोध में आंदोलन शुरू करने का सुझाव दिया था। भाजपा नेता ने कहा, ‘‘मैंने उनसे सिर्फ इतना कहा कि आंदोलन के लिए रणनीति बनानी होगी। मैंने उन्हें यह भी बताया कि गायों की तस्करी करने वाले पांच ‘मेव’ मुस्लिम लोगों को हमारे कार्यकर्ताओं ने पीटा था। यह ‘मेव’ लोग हैं जो गौ तस्करी और गोकशी करते हैं। चूंकि हिंदुओं में गायों के प्रति श्रद्धा की भावना है, इसलिए वे ऐसे तस्करों को निशाना बनाते हैं।’’ आहूजा ने कहा कि अपने कार्यकर्ताओं का बचाव करना उनका कर्तव्य है और मामले में फैसला तो अदालत को करना है। वहीं भाजपा ने आहूजा के बयान से खुद को अलग करते हुए इसे आहूजा की निजी राय बताया है।

आपके राउटर से अगर कोई Internet की कर रहा है चोरी, तो ऐसे लगाएं पता

आपकेराउटरसेअगरकोईInternetकीकररहाहैचोरीतोऐसेलगाएंपताLok Sabha Election 2019 Result: बिहार में एनडीए का जलवा, वोट शेयर के मामले में भाजपा और जेडीयू आगे****** बिहार में बदले हुए समीकरणों में हुए में एनडीए का जलवा देखने को मिल रहा है। वोट शेयर के मामले में दोपहर 1 बजकर 30 मिनट तक एनडीए के दो बड़े दल भाजपा और जदयू ने पहले दो पायदानों पर कब्जा जमाया हुआ है। खबर लिखे जाने तक को बिहार में 24.5 फीसदी, को 20.8 फीसदी, एलजेपी को 8.9 फीसदी वोट मिले थे। बात अगर महागठबंधन की करें तो बिहार में आरजेडी को 15.9 फीसदी वोट, कांग्रेस को 7.3 फीसदी वोट और आरएलएसपी को 3.825 फीसदी मोट मिले।बिहार में इस बार एनडीए और महागठबंधन के बीच कांटे की लड़ाई का अनुमान लगाया जा रहा था, लेकिन गुरुवार को मतगणना शुरू होते ही ज्यादातर सीटों पर एनडीए के प्रत्याशियों ने बढ़त बना ली। इन प्रत्याशियों में से भाजपा के गिरिराज सिंह, अररिया से प्रदीप कुमार, आरा से आरके सिंह, भागलपुर से अजय कुमार मंडल, पटना साहिब से रविशंकर प्रसाद, दरभंगा से गोपाल जी, जमुई से चिराग पासवान, माधेपुरा से दिनेश चंद्र यादव शामिल हैं।खबर लिखे जाने तक बिहार में महागठबंधन के जो दिग्गज प्रत्याशी पीछे चल रहे थे उनमें सासाराम से पूर्व स्पीकर मीरा कुमार, मधेपुरा से शरद यादव शामिल हैं।

आपकेराउटरसेअगरकोईInternetकीकररहाहैचोरीतोऐसेलगाएंपतादोबारा NDA सरकार बनने के प्रबल आसार से बढ़ा बाजार का जोश, सेंसेक्‍स और निफ्टी रिकॉर्ड ऊंचाई पर हुए बंद******Sensex vaults 1,422 pts as exit polls predict NDA win लोकसभा चुनावों के लिए मतदान समाप्‍त होने के बाद एग्जिट पोल में एनडीए की दोबारा सरकार बनने से बाजार में जोरदार जोश देखा गया। निवेशकों की जोरादार खरीदारी से घरेलू शेयर बाजार रिकॉर्ड ऊंचाई पर बंद हुए। निवेशकों की लिवाली से बंबई शेयर बाजार कासोमवार को 1,422 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 421 अंक की जबर्दस्त तेजी के साथ बंद हुआ।सेंसेक्‍स में सोमवार को 1422 अंक की तेजी आने के साथ ही निवेशकों की संपत्ति में 5.33 लाख करोड़ रुपए की वृद्धि दर्ज की गई। शेयरों में तेजी आने से बाजार का पूंजीकरण सोमवार को 5,33,463.04 करोड़ रुपए बढ़ गया। सोमवार को बाजार बंद होने के बार बीएसई पर सूचीबद्ध कंपनियों का पूंजीकरण बढ़कर 1,51,86,312.05 करोड़ रुपए हो गया। बंबई शेयर बाजार का 30-शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 1,421.90 अंक यानी 3.75 प्रतिशत उछलकर 39,352.67 अंक पर पहुंच गया। दिन में कारोबार के दौरान यह ऊंचे में 39,412.56 अंक और नीचे में 38,570.04 अंक तक गया।इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 421.10 अंक यानी 3.69 प्रतिशत चढ़कर 11,828.25 अंक पर पहुंच गया।आम चुनाव के लिए रविवार को मतदान संपन्न होने के बाद जारी एक्जिट पोल सर्वेक्षण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार को जनता द्वारा एक और मौका दिए जाने का अनुमान व्यक्त किया गया है। इन सर्वेक्षणों में राजग को 300 से अधिक सीटें मिलने की भविष्यवाणी की गई है। यह संख्या लोकसभा में 272 के सामान्य बहुत से कहीं अधिक है। मतों की गिनती 23 मई को होगी।निवेशकों को उम्मीद है कि राजग के सत्ता में बने रहने से आर्थिक सुधारों की गति बनी रहेगी और पहले कार्यकाल में जिन कार्यों को शुरू किया गया उन्हें और तेजी से आगे बढ़ाया जाएगा। सेंसेक्स की तेजी में योगदान करने वाले शेयरों में स्टेट बैंक, इंडसइंड बैंक, टाटा मोटर्स, लार्सन एंड टुब्रो, यस बैंक, एचडीएफसी, महिंद्रा एंड महिंद्रा, मारुति सुजूकी, ओएनजीसी, रिलायंस इंडस्ट्रीज, आईसीआईसीआई बैंक और एक्सिस बैंक में 8.64 प्रतिशत तक की तेजी दर्ज की गई।इसके विपरीत बजाज ऑटो और इंफोसिस में नुकसान रहा।एमके वेल्थ मैनेजमेंट के शोध प्रमुख जोसफ थॉमस ने कहा कि एक्जिट पोल में मौजूदा सरकार के फिर से सत्ता में लौटने की संभावना व्यक्त किए जाने के बाद घरेलू शेयर बाजार में सभी कारोबारी क्षेत्रों में अप्रत्याशित तेजी का रुख देखा गया। उन्होंने कहा कि तेजी के इस रुख को बरकरार रखने के लिए नई सरकार से निर्णायक नीतिगत पहल उम्मीद की जाती है। भूमि और श्रम सुधारों को तेजी से आगे बढ़ाने की जरूरत है। इसके साथ ही बैंक प्रणाली में मजबूती लाने और उसके पुनर्गठन का जो अधूरा काम रह गया है उसे जल्द से जल्द पूरा करना होगा। इस बीच बाजार में भारी तेजी को देखते हुए पूंजी बाजार नियामक सेबी ने बाजार में अपने निगरानी तंत्र को अधिक चाक-चौबंद कर दिया है ताकि बाजार में किसी भी तरह की साठगांठ वाली गतिविधियों पर नजर रखी जा सके।आपकेराउटरसेअगरकोईInternetकीकररहाहैचोरीतोऐसेलगाएंपताआत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना से कितनों की लगी नौकरी, सरकार ने संसद में बताया आंकड़ा******आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना से कितनों की लगी नौकरी, सरकार ने संसद में बताया आंकड़ा आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना (एबीआरवाई) से लगभग 16.5 लाख लोग लाभान्वित हुए हैं यह योजना कोविड-19 महामारी की रोक-थाम के लिए लागू सार्वजनिक पाबंदियों के बीच संगठित क्षेत्र में नौकरियों के अवसर बढ़ाने के लिए अक्टूबर में शुरू की गयी थी। केन्द्रीय मंत्री संतोष गंगवार ने बुधवार को यह जानकारी दी। श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने बुधवार को राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा, ‘‘नौ मार्च, 2021 को (एबीआरवाई के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए) 16.49 लाख कर्मचारियों को पंजीकृत किया गया था।’’इस योजना के तहत नयी नियुक्तियों पर दो साल तक कुछ शर्तों के साथ श्रमिक और नियोक्ता के कर्मचारी भविष्य निध में योगदान का बोझ खुद उठा रही है। यह योगदान वेतन के 12-12 प्रतिशत (कुल 24 प्रतिशत) के बराबर होता है। इस योजना को सामाजिक सुरक्षा लाभ के साथ-साथ -नए रोजगार के सृजन और महामारी के दौरान रोजगार के नुकसान की भरपायी को प्रोत्साहित करने के लिए शुरू किया गया है। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के माध्यम से कार्यान्वित की जा रही यह योजना, विभिन्न क्षेत्रों / उद्योगों के नियोक्ताओं के वित्तीय बोझ को कम करती है और उन्हें और अधिक श्रमिकों को नियुक्त करने के लिए प्रोत्साहित करती है। मंत्री ने सदन को बताया कि पीएमजीकेवाई योजना के तहत 38.82 लाख पात्र कर्मचारियों के ईपीएफ खातों में 2,567.66 करोड़ रुपये जमा किए गए।महिला रोजगार सृजन के बारे में सदन को दिए एक अन्य उत्तर में, मंत्री ने सदन को बताया, "अप्रैल-दिसंबर, 2020 के दौरान, कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) योजना में 9.27 लाख महिला अंशधारक जुड़ीं। इसी तरह नई पेंशन योजना (एनपीएस) में 1.13 लाख और कर्मचारी राज्य बीमा योजना में लगभग 2.03 लाख महिला कर्मचारी जुड़ीं। " एक अन्य उत्तर में मंत्री ने कहा, "भविष्य निधि के लंबित दावे 15,351 हैं जो उस अवधि (अप्रैल 2020 से फरवरी 2021) के दौरान किए गए कुल 2.91 करोड़ दावों का 0.053 प्रतिशत भाग हैं।" मंत्री ने बताया कि दावों के निपटान की औसत समयावधि 20 दिन है।

आपकेराउटरसेअगरकोईInternetकीकररहाहैचोरीतोऐसेलगाएंपताUS Open 2021: शानदार प्रदर्शन को जारी रखते हुए दूसरे दौर में पहुंचे नोवाक जोकोविच******विश्व के नंबर-1 टेनिस खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच डेनमार्क के होल्गर रुने को हराकर साल के आखिरी ग्रैंड स्लैम यूएस ओपन के दूसरे दौर में पहुंच गए हैं। जोकोविच ने होल्गर को दो घंटे 15 मिनट तक चले मुकाबले में 6-1, 6-7(5), 6-2, 6-1 से हराकर दूसरे दौर में जगह बनाई।जोकोविच इसके साथ ही रोड लेवेर के 1969 में एक ही सीजन में चार बड़े खिताब जीतने के रिकॉर्ड की बराबरी करने से छह मैच दूर रह गए हैं।जोकोविच का दूसरे दौर में सामना नीदरलैंड के टालोन ग्रिएक्सपूर से होगा जिन्होंने एक अन्य मुकाबले में जर्मनी के जान लेनार्ड स्ट्रफ को तीन घंटे 38 मिनट तक चले मैच में 2-6, 7-6(3), 4-6, 6-4, 7-5 से हराया।जोकोविच ने कहा, "तीसरे और चौथे सेट के बारे में कहना मुश्किल है क्योंकि वह क्रैंप के कारण ज्यादा मूव नहीं कर पा रहे थे। मैंने शुरूआत अच्छी की और पहला सेट बखूबी निकाला।"उन्होंने कहा, "कड़ा मुकाबले देने के लिए उन्हें श्रेय देना होगा। दर्शकों का समर्थन भी उन्हें काफी था। अपने पहले मैच में खेलना थोड़ा कठिन होता है जबकि मेरे पास इस कोर्ट में खेलने का अनुभव है और होल्गर का यह पहला मैच था।"आपकेराउटरसेअगरकोईInternetकीकररहाहैचोरीतोऐसेलगाएंपताUAE में IPL खिलाड़ियों के लिए 6 दिन के बजाय 3 दिन का क्वॉरंटाइन चाहती हैं टीमें******आईपीएल टीमें BCCI ड्राफ्ट SOP में उल्लिखित UAE पहुंचने वाले अपने खिलाड़ियों के लिए 6 दिनों के बजाय तीन दिन का क्वॉरटाइन चाहती हैं। साथ ही टीमों नें साथी खिलाड़ी और परिवार के साथ डिनर करने की इजाजत भी बोर्ड से मांगी है।बीसीसीआई के एक अधिकारी ने PTI को बताया कि इन बिंदुओं के साथ-साथ होटल में कॉन्टेक्ट लेस डिलीवरी के जरिए बाहर से खाना मंगवाने के अनुरोध पर बुधवार शाम को आईपीएल अधिकारियों और टीम के मालिकों के बीच बैठक में चर्चा की जाएगी।मौजूदा बीसीसीआई SOPके अनुसार, खिलाड़ियों और सहयोगी सदस्यों को यूएई में अभ्यास शुरू करने से पहले कोविड-19 की जांच में पांच बार निगेटिव आना होगा और टूर्नामेंट शुरू होने के बाद उन्हें हर पांचवें दिन कोरोना वायरस जांच करानी होगी।अधिकारी ने कहा, "पिछले 6 महीनों में अधिकांश खिलाड़ियों को ज्यादा खेलनेका समय नहीं मिला है। ऐसे में खिलाड़ी ज्यादा से ज्यादा अभ्यास करने के लिए उत्सुक हैं।" BCCI ने टीमों को 20 अगस्त से पहले यूएई नहीं जाने के लिए कहा है, हालांकि CSKसहित कुछ टीमें वहां जल्दी पहुंचने की इच्छा जता चुकी हैं।गौरतलब है कि बीसीसीआई ने IPL टीमों से कहा है कि वे 20 अगस्त से पहले उड़ान ना भरे जिससे उन्हें जरूरत पड़ने पर आवश्यक परीक्षण प्रोटोकॉल और पृथकवास अभ्यास को अंजाम देने में परेशानी ना हो।बीसीसीआई ने खिलाड़ियों के परिवार और सहयोगियों को साथ रखने का फैसला टीमों पर छोड़ दिया है। इसके लिए उन्हें भी सख्त जैव-सुरक्षित प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। परिवार को जैव-सुरक्षित माहौल से बाहर किसी से मिलने की अनुमति नहीं होगी। दूसरे खिलाड़ियों के परिवारों से मुलाकात के दौरान उन्हें समाजिक दूरी का ख्याल रखना होगा। उन्हें हमेशा मास्क लगाये रखना होगा।

आपकेराउटरसेअगरकोईInternetकीकररहाहैचोरीतोऐसेलगाएंपतासरकारी बैंकों के प्रमुखों से 19 सितंबर को मिलेंगे वित्त सचिव, बैंकिंग प्रणाली को लेकर होगी चर्चा******Finance Secretary to meet heads of PSU banks on Sep 19 राजीव कुमार 19 सितंबर को सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के प्रमुखों से मुलाकात करेंगे। इस दौरान वृद्धि को बढ़ावा देने में उनके प्रयासों और की ओर से ब्याज दरों में कटौती के बाद उठाए गए कदमों की समीक्षा की जाएगी। सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। यह बैठक वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा आर्थिक वृद्धि को बढ़ावा देने के लिए हाल में उठाये गये कदमों की पृष्टभूमि में हो रही है। सूत्रों ने कहा कि समीक्षा बैठक के एजेंडे में आरबीआई की रेपो दर में की गई कटौती के बाद बैंकों की ओर से उठाए गए कदम और ऋण को बढ़ावा देने के लिए बैंकों और एनबीएफसी के बीच सहयोग आदि से जुड़े मुद्दे शामिल हैं।इस दौरान बैंकों के माध्यम से एमएसएमई सेक्टर, स्मॉल ट्रेडर्स और स्माल हाउसिंग ग्रुप (SHG) को लेंडिंग के मसले पर बैंक की तरफ से उठाए गए कदमों की समीक्षा की जाएगी। साथ ही इस दौरान डोर स्टेप बैंकिंग की भी समीक्षा की जाएगी।वित्त सचिव की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में बैंक की परफारमेंस, छोटी क्षेत्रीय शाखा से लेकर बड़ी ब्रांच तक हर स्तर पर समीक्षा की जाएगी। इसमें लोन रीपेमेंट के 15 दिन के अंदर डॉक्यूमेंट रिटर्न व्यवस्था की समीक्षा भी शामिल है, साथ ही ऑनलाइन लोन आवेदनों की समीक्षा भी की जाएगी।आपकेराउटरसेअगरकोईInternetकीकररहाहैचोरीतोऐसेलगाएंपताMakar Sankranti Recipe: इस मकर संक्रांति तिल के लड्डू बनाकर परिवार का मुंह कराएं मीठा, ये है आसान रेसिपी******14 जनवरी को मकर संक्रांति है। मकर संक्रांति पर लोग घर में तरह तरह के मीठे पकवान बनाते हैं और स्वाद ले लेकर खाते हैं। आज हम आपको मकर संक्रांति पर तिल के लड्डू बनाने की रेसिपी बताएंगे। ये बनाना बेहद आसान है। जानिए तिल के लड्डू बनाने कीआसान सी रेसिपी।सबसे पहले कड़ाही को धीमी आंच पर रखें। जब कहाड़ी गरम हो जाए तो उसमें तिल को डालें और करीब 3 से 4 मिनट तक भूनें। जब ये तिल हल्के भूरे रंग के हो जाएं तो इन्हें एक बर्तन में निकाल लें। अब आपको लड्डू बनाने के लिए गुड़ को पिघलाना होगा। इसके लिए आप अब कड़ाही में गुड़ के टुकड़े डाल दें। जब गुड़ पिघल जाए तो उसमें इलायची पाउडर डालकर मिला लें। इसके बाद भुने हुए तिल भी उसी में डालकर अच्छी तरह से मिलाएं।तिल के लड्डू बनाने के लिए आपका गुड़ और तिल का मिश्रण तैयार है। अब गैस को बंद कर दें और इस मिश्रण को बर्तन में निकाल लें। इस बात का ध्यान रखें कि आपको ये लड्डू गरम मिश्रण में ही बनाना है। लड्डू बनाने के लिए हाथ में घी लगाकर एक चम्मच में मिश्रण लेकर उसे हाथ से गोल आकार के लड्डू बनाएं। सभी मिश्रण से इसी तरह से लड्डुओं को बनाएं। इन लडुड्ओं को थोड़ी देर के बाद आप कंटेरन में स्टोर करके कई दिनों के लिए रख सकते हैं।

पिछला:Moody's ने किया सबका मूड खुश, कहा भारतीय अर्थव्यवस्था 2021 में करेगी 12 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज
अगला:Diwali 2019: धनतेरस, नरक चौदस, दिवाली, गोवर्द्धन पूजा और भैयादूज का शुभ मुहूर्त
संबंधित आलेख